MP WEATHER FORECAST - ओलावृष्टि का खतरा, जेट स्ट्रीम मध्य प्रदेश की तरफ तेजी से बढ़ रही है

मध्य प्रदेश में ओलावृष्टि का खतरा मंडरा रहा है। जेट स्ट्रीम (आसमान में 20000 से लेकर 50000 फीट की ऊंचाई पर 100 किलोमीटर प्रति घंटा से अधिक स्पीड से, पश्चिम दिशा से पूर्व दिशा की तरफ चलने वाली हवाएं, उन्हें जेट स्ट्रीम कहा जाता है)। 150 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से हिमालय पर करती हुई भारत के उत्तर एवं पश्चिम क्षेत्र के आसमान पर पहुंच चुकी है और मध्य प्रदेश की तरफ तेजी से बढ़ रही है। इनके कारण ओलावृष्टि का खतरा उत्पन्न हो गया है। 

मध्य प्रदेश मौसम का पूर्वानुमान - IMD Satellite 

IMD Satellite से प्राप्त चित्र के अनुसार दिनांक 3 फरवरी 2024 को शाम 6:00 बजे की स्थिति में जेट स्ट्रीम ने लद्दाख, जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली एवं उत्तराखंड को घेर लिया था और राजस्थान एवं उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में जेट स्ट्रीम प्रवेश कर चुकी थी। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक डॉक्टर वेद प्रकाश सिंह के अनुसार दिनांक 4 फरवरी से मध्य प्रदेश में जेट स्ट्रीम का असर दिखाई देने लगेगा। दिनांक 3 और 4 फरवरी की दरमियानी रात मौसम बदल जाएगा। कई इलाकों में कोहरा बढ़ जाएगा आसमान पर बादल छा जाएंगे और लोग सामान्य भाषा में कहते हुए सुनाई देंगे की ठंड वापस आ गई है। 

मध्य प्रदेश के मौसम पर जेट स्ट्रीम का असर

  • 3 फरवरी को ग्वालियर, शिवपुरी और दतिया में गरज-चमक के साथ हल्की बूंदाबांदी हो सकती है।
  • 4 फरवरी की सुबह भिंड-मुरैना में हल्की ओलावृष्टि हो सकती है। इस दिन चंबल संभाग के श्योपुर, मुरैना और भिंड, ग्वालियर संभाग के दतिया-ग्वालियर में ओलावृष्टि होगी। वहीं, 40 से 50 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से तेज हवा भी चल सकती है। नीमच, शिवपुरी, टीकमगढ़, निवाड़ी और छतरपुर में भी बूंदाबांदी हो सकती है।
  • 5 फरवरी को ग्वालियर, चंबल, सागर और रीवा संभाग समेत मंडला, सिवनी, बालाघाट और छिंदवाड़ा में हल्की बूंदाबांदी हो सकती है।
  • 6 फरवरी को बादल की वजह से 3 दिन तक दिन-रात के टेम्प्रेचर में बढ़ोतरी देखने को मिलेगी, लेकिन वेस्टर्न डिस्टरबेंस के गुजरने के बाद रात के टेम्प्रेचर में गिरावट होगी। ठंड का हल्का दौर फिर आएगा। 

मध्य प्रदेश मौसम समाचार

भारत मौसम विज्ञान विभाग के भोपाल केंद्र के अनुसार पिछले 24 घंटे में, मुरैना, ग्वालियर, भिंड और दतिया में घने से अतिघना कोहरा छाया रहा। श्योपुर कलां, शिवपुरी, निवाड़ी, टीकमगढ़, छतरपुर, उत्तरी पन्ना और मऊगंज जिलों में मध्यम से घना कोहरा छाया रहा। न्यूनतम दृश्यता सुबह के समय दतिया में 50 मीटर से कम; टीकमगढ़ में 50 मीटर; ग्वालियर एवं खजुराहो हवाई अड्डे पर 100 मीटर; और नौगांव में 200 मीटर दर्ज की गई। न्यूनतम तापमानों में सभी संभागों के जिलों में विशेष परिवर्तन नहीं हुआ। वे भोपाल, इंदौर, नर्मदापुरम, उज्जैन, रीवा, जबलपुर और सागर संभागों के जिलों में सामान्य से अधिक रहे। ग्वालियर और शहडोल संभागों के जिलों में काफी अधिक रहे। 

मौसम समाचार अपडेट - 4 फरवरी 2024 

जम्मू-कश्मीर: पुंछ में पीर पंजाल रेंज पर भारी हिमपात जारी है, सुबह हुए ताजा हिमपात के कारण मुगल रोड बंद है। 

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !