MP WEATHER FORECAST - 7 जिलों में ओलावृष्टि का खतरा, अलर्ट जारी

भारत मौसम विज्ञान विभाग के वैज्ञानिकों ने मध्य प्रदेश के सात जिलों में ओलावृष्टि के लिए अलर्ट जारी किया है। विशेषज्ञों का कहना है कि एक नया पश्चिमी विकशॉप सक्रिय हो जाने के कारण मध्य प्रदेश के आसमान में बादल छाए रहेंगे और हल्की बारिश होगी। मौसम केंद्र भोपाल के अनुसार सात जिलों में ओलावृष्टि का खतरा है। 

मध्य प्रदेश मौसम का पूर्वानुमान - पढ़िए कहां पर ओलावृष्टि और कहां पर बारिश होगी

मौसम केंद्र भोपाल के अनुसार राजगढ़, रतलाम, उज्जैन, आगर मालवा, नीमच और मंदसौर में ओलावृष्टि हो सकती है। पहले वेस्टर्न डिस्टरबेंस का असर खत्म नहीं हुआ था और दूसरा वेस्टर्न डिस्टरबेंस शुरू हो गया है। इसके कारण सीहोर, भोपाल, रतलाम, शिवपुरी, ग्वालियर, सीधी, रीवा, सतना, छतरपुर, टीकमगढ़ एवं निवाड़ी जिलों में कोहरा छाए रहेगा और कुछ इलाकों में गरज-चमक के साथ बारिश होगी। आकाश से बिजली गिरने की संभावना है। 

मध्य प्रदेश मौसम समाचार 

दिनांक 8 जनवरी को प्रातः 08:30 बजे के प्रेक्षण पर आधारित मौसम सारांश- पिछले 24 घंटे के दौरान प्रदेश के भोपाल, इंदौर, नर्मदापुरम और उज्जैन संभागों के जिलों में कहीं कहीं पर, वर्षा दर्ज की गई, एवं शेष सभी संभागों के जिलों में मौसम मुख्यतः शुष्क रहा। नीमच, मंदसौर, आगर, भोपाल, रायसेन, सीहोर, विदिशा, अशोकनगर, ग्वालियर, शिवपुरी, सागर, पन्ना, छतरपुर, सतना, कटनी, जबलपुर, मंडला और नरसिंहपुर में मध्यम से घना कोहरा रहा: गुना, दतिया, श्योपुर कलां, राजगढ़, रतलाम, उज्जैन, देवास, शाजापुर, इंदौर, धार, झाबुआ, अलीराजपुर, बड़वानी, खंडवा, खरगोन, बुरहानपुर, नर्मदापुरम, हरदा, दमोह, निवाड़ी, टीकमगढ़, उमरिया, शहडोल, रीवा, मऊगंज, सीधी और सिंगरौली में हल्के से मध्यम कोहरा रहा। 

न्यूनतम दृश्यता सुबह के समय जबलपुर हवाई अड्डे, मंडला, सागर, सतना और रायसेन में 50 मीटर; खजुराहो हवाई अड्डे पर 100 मीटर; भोपाल हवाई अड्डे और ग्वालियर में 200 मीटर, दमोह, रीवा, टीकमगढ़ और उमरिया में 500 मीटर; और इंदौर एयरपोर्ट पर 500 मीटर दर्ज की गई। 

न्यूनतम तापमान रीवा और शहडोल संभागों के जिलों में काफी गिरे, एवं शेष सभी संभागों के जिलों के तापमानों में विशेष परिवर्तन नहीं हुआ। वे ग्वालियर संभाग के जिलों में सामान्य से अधिक रहे, भोपाल, इंदौर, नर्मदापुरम, उज्जैन, जबलपुर और सागर संभागों के जिलों में काफी अधिक रहे, रीवा और शहडोल संभागों के जिलों में विशेषरूप अधिक रहे। 

⇒ पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें  ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें। ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !