RGPV BHOPAL में गैंगवार, 2 दिन में आठ बार संघर्ष, दोनों गैंग के खिलाफ मामला दर्ज - NEWS TODAY

राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय भोपाल अब पढ़ाई के लिए नहीं बल्कि स्टूडेंट के बीच गैंगवार के लिए जाना जाता है। मैनेजमेंट की लापरवाही के कारण कैंपस में गुंडागर्दी का आलम यह है कि, रैगिंग जैसी गंभीर शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं होती। पुलिस थाने में एक के बाद एक कई मामले दर्ज किया जा चुके हैं। ताजा मामले में दोनों गैंग के 9 विद्यार्थियों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए हैं। 

RGPV BHOPAL में कितने गैंग सक्रिय हैं

State Technological university of Madhya Pradesh में भेल ग्रुप और एंटी भेल ग्रुप सक्रिय हैं। इसके अलावा आप कुछ छोटे-मोटे दूसरे गैंग भी पनपने लगे हैं। स्टूडेंट बताते हैं कि सबसे पहले भेल ग्रुप सक्रिय हुआ था। यह आपराधिक मानसिकता वाले विद्यार्थियों का गैंग है। इसका सरगना कौन है कोई नहीं जानता। राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के सभी हॉस्टल में भेल ग्रुप के स्टूडेंट रैगिंग, मारपीट और लूटपाट करते हैं। मैनेजमेंट को सब पता है परंतु मैनेजमेंट भी डरता है। कोई भी अधिकारी कैंपस में नहीं रहता इसलिए अपराधिक गतिविधियां खुले आम संचालित होती हैं। इन लोगों से लड़ने के लिए सभी हॉस्टल में रहने वाले कुछ विद्यार्थियों ने एंटी भेल ग्रुप बना लिया है। 

ताजा मामला क्या है

एक CAR में सवार होकर भेल गैंग के 6 स्टूडेंट आए और एंटी भेल गैंग के एक स्टूडेंट को घेर लिया। वह सातवें सेमेस्टर की परीक्षा देने जा रहा था। उसके साथ जबरदस्त मारपीट की गई। इसके बाद दोनों गैंग के बीच में संघर्ष शुरू हो गया। दोनों गैंग के स्टूडेंट्स ने दुश्मन गैंग का जो सदस्य जहां पर मिला उसके साथ मारपीट की। इस मामले में मैनेजमेंट को कई बार शिकायत की जा चुकी है। 21 दिसंबर को भी रैगिंग की शिकायत हो चुकी है, परंतु मैनेजमेंट डरता है। ना खुद कोई कठोर कार्रवाई करता है और ना सरकार से मदद मांगता है। मामला पुलिस तक पहुंचा और नौ विद्यार्थियों के खिलाफ FIR दर्ज की गई। साल 2023 में आरजीपीवी कैंपस में छात्रों के बीच मारपीट के 6 से अधिक मामले दर्ज किया जा चुके हैं। 

पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें  ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें। ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !