MP NEWS - कर्मचारियों ने कांग्रेस को वोट दिए, तो जनता ने क्यों नहीं दिए, दिग्विजय सिंह का सवाल और पब्लिक के जवाब पढ़िए

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस पार्टी में कमलनाथ के साझेदार श्री दिग्विजय सिंह ने विधानसभा चुनाव 2023 में कांग्रेस पार्टी को मिली शर्मनक हार के बाद, परिणाम की समीक्षा शुरू कर दी है। उन्होंने पहला सवाल किया है कि मध्य प्रदेश में जब शासकीय कर्मचारियों ने कांग्रेस पार्टी को वोट दिया है तो फिर जनता ने क्यों नहीं दिया। 

जब जनता वही है तो वोटिंग पैटर्न इतना कैसे बदल गया

श्री दिग्विजय सिंह ने दिनांक 4 दिसंबर को रात करीब 8:00 बजे कर्मचारियों द्वारा किए गए डाक मत पत्रों के आंकड़े शेयर करते हुए अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, अब कुल 230 सीटों के आँकड़े आपके पास हैं। पोस्टल बैलेट के ज़रिए कांग्रेस और बीजेपी को पड़े वोटों की संख्या विश्लेषण के लिए प्रस्तुत है। सोचने की बात यह है कि जब जनता वही है तो वोटिंग पैटर्न इतना कैसे बदल गया?  तस्वीरों के आँकड़ों में एक प्रमाण है जो यह बताता है कि पोस्टल बैलेट के ज़रिए हमें यानी कांग्रेस को 199 सीटों पर बढ़त है। जबकि इनमें से अधिकांश सीटों पर ईवीएम काउंटिंग में हमें मतदाताओं का पूर्ण विश्वास न मिल सका। 

दिग्विजय सिंह के सवाल पर जनता की प्रतिक्रियाएं, कमेंट्स

professor.. @moneyheistwala
Tum logo ka har bar ka rona hai........

ARJUN ARYA 🇮🇳 @ArjunArya_
सत्य परन्तु कड़वा 
सत्ता के विरूद्ध लोगों का मन था   , परन्तु इसका मतलब ये बिल्कुल नहीं कि जनता के बीच संघर्ष करने वालों की जगह, फ़र्ज़ी लोगों को उम्मीदवार बनाया जाये और जनता उस पर मोहर लगा दें।
कांग्रेस की पराजय का एकमात्र कारण। 

Pradip Mishra @PradipM_9
वो ops के लिए था

Sandeep Kumar @sandeep511kumar
अगले पांच साल है आप के पास सोचने के लिए सोचते रहिये कैसे हो गया

Alok's views 👍 @kumaralokpal
OPS पोस्टल बैलेट वालों (सरकारी कर्मचारी) के लिए सबसे बड़ा मुद्दा है। बाकियों के लिए नहीं।
अगर इतनी सी बात समझ नहीं आती तो राजनीति में क्या घास छील रहे हो।

Parvez Tyagi @Editor_ParvezT
सवाल अच्छा है आपका मगर इस पर जवाब/जानकारी (सच) तलाशने के लिए काम कीजिए/करवाइए !!

Aman Patel @socialistAman1
- मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव।
199 सीटो पर कांग्रेस ने बढ़त बनाई है पोस्टल बैलेट में।
इन्ही आंकड़ों को रुझान कहा जाता है।
किसी न्यूज चैनल के रुझानों में देखा क्या कुछ ऐसा..?
वोट की मार्जिन भी एक बार ध्यान जरूर दीजिएगा।

Mayank Jhanji @Mayank_Jhanji
Aisa hai Digi Baba!!! Aap postal ballot ko leke apni parliament bana lo. Apna Lower aur upper house aur fir har 5 saal mein same postal ballot fir se gin lena. Kabhi haaroge hi nahi.


Deshpande @Deshpande__
पैतर्न कैसे बदल गये? आप लोगो की मेहनत कर्नाटका और तेलंगाना कांग्रेस से कम रेह गयी. इसीलिये पैटर्न बदल गये. वोह भाजपा से लड रहे थे और आप… खैर छोडो

chandan @chandan_stp
कांग्रेस को बचाना है तो दिग्विजय को भगाओ

फेसबुक पर भी कुछ लोगों ने प्रशासन योग्य कमेंट किए हैं 

Ramshushil Mishra
आपके लिए कार्यकर्ताओं का सम्मान नहीं है कार्यकर्ता चाहे जितनी भी मेहनत करें पर आप लोग कार्यकर्ता का अपमान ही करते हो कार्यकर्ता के बीच में बड़ी-बड़ी बातें करते हो और जब आप दो-चार चंगू मंगू के सामने बैठते हो कार्यकर्ता का आपमान इस चुनाव में हराने की सबसे बड़ी जिम्मेदारी आपकी और परम आदरणीय कमलनाथ जी की है आप लोग यह सोचते हो कि हम जिसको चाहेंगे उसी को चुनाव जीत लेंगे।

Kailash Suryavanshi
आदरणीय होकम पुराने चेहरे से जनता अब दूर हो रही है आरक्षित सीटों पर योग्य युवाओं को मौका मिलना चाहिए कुछ को बार बार टिकिट देने से नाराज है. जिनकी जाती के 100 वोट नहीं उनको बार बार टिकिट देना कहा तक उचित है. 

Satish Yadav
आदरणीय राजा साहब आप कह रहे हो पोस्टल बैलेट में कांग्रेस को अच्छे वोट मिले। पोस्टल बैलेट सरकारी अधिकारी कर्मचारी द्वारा डाला जाता है जिनकी निर्वाचन में ड्यूटी लगी होती है। अब यहां एक बात का भ्रम पैदा होता है की एक तरफ कहते है सारे सरकारी लोग सरकार के साथ मिले हुए है और एक तरफ आपको उन्ही लोगो से ज्यादा मत प्राप्त होते हैं। तो आप कृपया स्पष्ट करे कहना क्या चाहते है। 

Hemant Paatil
सब ठीक था माहौल भी था लोग भी तैयार थे वोट देने के लिए बस टिकिट वितरण में हठधर्मिता ले डूबी। 

डिस्क्लेमर- समाचार लिखे जाने तक कुल 950 से ज्यादा कमेंट्स किए जा चुके थे। यहां जो प्रकाशित किए गए हैं वह रेंडम सिलेक्शन है, ताकि पैटर्न समझ में आ जाए। 

 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें  ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें। ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !