निशा बांगरे - डिप्टी कलेक्टर पद से इस्तीफा बेकार गया, कमलनाथ ने टिकट नहीं दिया - MP NEWS

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 में राज्य प्रशासनिक सेवा की महिला अधिकारी श्रीमती निशा बांगरे सुर्खियों का एक केंद्र रही है। चुनाव लड़ने के लिए उन्होंने न केवल अपने पद से इस्तीफा दिया बल्कि इस्तीफा मंजूर करवाने के लिए पदयात्रा भी की। अब जब इस्तीफा मंजूर हो गया तो कमलनाथ ने टिकट नहीं दिया। निशा बांगरे बैतूल जिले की आमला विधानसभा सीट से चुनाव लड़ना चाहती थी। 

निशा बांगरे - चुनाव लड़ने के लिए क्या-क्या नहीं किया

मध्य प्रदेश राज्य प्रशासनिक सेवा की महिला अधिकारी एवं डिप्टी कलेक्टर श्रीमती निशा बांगरे ने विधानसभा चुनाव 2023 में बतौर प्रतियोगी शामिल होने के लिए, अपने जीवन का सबसे कठिन संघर्ष किया। डिप्टी कलेक्टर रहते हुए मुख्य सचिव से सीधा विवाद हुआ। अपना इस्तीफा मंजूर करने के लिए कभी हाई कोर्ट और कभी सुप्रीम कोर्ट के चक्कर लगाए। बैतूल से लेकर भोपाल तक पदयात्रा की। भोपाल में प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस पार्टी निशा बांगरे के साथ थी परंतु जैसे ही इस्तीफा मंजूर हुआ, निशा बांगरे अकेली खड़ी दिखाई दी। 

बधाई देना तो दूर की बात कमलनाथ ने फोन तक रिसीव नहीं किया यहां तक कि मैसेज का रिप्लाई भी नहीं किया। निशा बांगरे, कमलनाथ से मिलने के लिए छिंदवाड़ा तक पहुंची। बड़ी मुश्किल से गुरुवार की सुबह मुलाकात हुई। कहा कि पहले कांग्रेस पार्टी में औपचारिक रूप से शामिल होना पड़ेगा। दोपहर में जिस कार्यक्रम में श्रीमती निशा बांगरे कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ले रही थी, इस कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने भाषण के दौरान ऐलान कर दिया कि निशा बांगरे चुनाव नहीं लड़ेंगी। 

 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें  ✔ यहां क्लिक करके व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें। ✔ यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !