UPSC का खुलासा- अलीराजपुर वाली आयशा फर्जी है, FIR दर्ज कराएंगे, देवास वाली असली

Union Public Service Commission of India 

भारत के संघ लोक सेवा आयोग ने उस विवाद का 3 दिन के भीतर पटाक्षेप कर दिया, जिसमें दावा किया गया था कि आयशा नाम की दो कैंडिडेट्स को यूपीएससी ने एक ही रोल नंबर जारी कर दिया और यह रोल नंबर सिलेक्ट भी हो गया। अब सवाल यह था कि कौन सी वाली आयशा का सिलेक्शन हुआ है। अलीराजपुर वाली या देवास वाली। 

अलीराजपुर वाली आयशा तो परीक्षा में ही पास नहीं हुई थी

संघ लोक सेवा आयोग ने अपने रिकॉर्ड और सिस्टम चेक करने के बाद दावा किया कि हमारा सिस्टम 100% फुलप्रूफ है और ऐसी किसी भी गलती की संभावना नहीं है। यूपीएससी ने खुलासा किया कि अलीराजपुर वाली कैंडिडेट आयशा मकरानी का असली रोल नंबर 7805064 है और उसने  पेपर- I में 22.22 और पेपर- II में 21.09 मार्क्स हासिल किए थे। जबकि देवास वाली आयशा फातिमा का रोल नंबर 7811744 है और उसी का सिलेक्शन हुआ है। 

क्रिमिनल और डिस्प्लिनरी एक्शन लिया जाएगा

यूपीएससी ने बताया कि, यह अकेला मामला नहीं है बल्कि रेवाड़ी हरियाणा के कैंडिडेट तुषार कुमार ने भी इसी प्रकार का गलत दावा किया है। उन्होंने बिहार के तुषार कुमार के रोल नंबर को अपना बताया और सिलेक्शन होने का दावा किया। यूपीएससी ने कहा कि अलीराजपुर मध्य प्रदेश की आयशा और रेवाड़ी हरियाणा के तुषार, दोनों ने यूपीएससी परीक्षा नियमों का उल्लंघन किया है। इसलिए दोनों के खिलाफ  क्रिमिनल और डिस्प्लिनरी एक्शन लिया जाएगा। 

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। यहां क्लिक करके व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन कर सकते हैं। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

समाचार की पुष्टि के लिए यहां क्लिक करके यूपीएससी की ऑफिशल वेबसाइट पर उपलब्ध प्रेस रिलीज पढ़ सकते हैं एवं DOWNLOAD कर सकते हैं।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !