MP NEWS- अतिथि विद्वानों की भोपाल पदयात्रा शुरू, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को आमंत्रित किया

भोपाल। मध्यप्रदेश के सरकारी कॉलेजों में पढ़ा रहे अतिथि विद्वानों की सीहोर से भोपाल पदयात्रा शुरू हो गई है। अतिथि विद्वानों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को नीलम पार्क में आमंत्रित किया है। अतिथि विद्वानों ने कहा कि जिस प्रकार सन 2019 में मामा शिवराज सिंह ने अतिथि विद्वानों के प्रदर्शन का समर्थन किया था, उसी प्रकार इस बार भी करें क्योंकि प्रदर्शनकारी अतिथि विद्वान और मुद्दे वही हैं। हमारी तरफ कुछ भी नहीं बदला है। 

हम राजनीतिक मोहरा नहीं, समाधान चाहते हैं: महासंघ मोर्चा

संयोजक डॉ देवराज सिंह ने कहा कि पिछले दो दशकों से ज्यादा समय से अतिथि विद्वान अनिश्चित भविष्य और आर्थिक बदहाली के बावजूद लगातार सेवा दे रहे हैं लेकिन सरकार आज तक अतिथि विद्वानों का भविष्य सुरक्षित नहीं कर पाई जो बेहद निराशाजनक है। आगे डॉ सिंह ने कहा की सरकारें सिर्फ और सिर्फ अतिथि विद्वानों को चुनावी मोहरा बनाकर रखना चाहती है। इस शोषणकारी नीति अतिथि विद्वान व्यवस्था के खिलाफ़ ये पदयात्रा शुरू हुई है।

अनुभव और योग्यता की कद्र करे सरकार: अतिथि विद्वान

अतिथि विद्वानों ने बताया की पिछले 25 से 26 वर्षों से अतिथि विद्वान सरकारी महाविद्यालयों में सेवा दे रहे हैं,नेट/पीएचडी हैं लेकिन सरकार ध्यान नही दे रही।संयोजक डॉ बीएल दोहरे एवं डॉ संजय पांडेय ने कहा की अब कितना सरकार को अनुभव योग्यता चाहिए।इन्होंने स्पष्ट कहा कि पीएससी अतिथि विद्वानों के हित में नहीं है।सरकार को संवेदना दिखाते हुए अतिथि विद्वानों को एक व्यवस्थित नीति बनाकर भविष्य सुरक्षित करना चाहिए।इस प्रेस वार्ता में डॉ अविनाश मिश्रा,डॉ दुर्गेश लशगरिया,डॉ बी डी धार्मिक,डॉ सोनम भारती,डॉ प्रियंका अहिरवार शामिल रहीं।

अतिथि विद्वानों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को नीलम पार्क में आमंत्रित किया

राजनीतिक पार्टियां जब भी विपक्ष में होती हैं तो अतिथि विद्वानों को याद करते हैं वादे करते हैं लेकिन सत्ता पाते ही भूल जाते हैं। आज़ परीक्षा, प्रवेश, प्रबंधन, अध्यापन, मूल्यांकन, नैक, रुसा सहित समस्त कार्य अतिथि विद्वान पूरी तन्मयता से करते हैं फिर भी भविष्य सुरक्षित नहीं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित सभी भाजपा नेताओं ने अतिथि विद्वानों से नियमितीकरण का वादा किए थे जब विपक्ष में थे लेकिन सरकार में आते ही भूलते नज़र आ रहे हैं। इसी को लेकर अतिथि विद्वान अपनी जायज़ मांगों को लेकर सीहोर से राजधानी भोपाल तक पदयात्रा शुरू कर रहे हैं।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी से निवेदन है की 30 तारीख़ को नीलम पार्क में उपस्थित होकर नियमितीकरण का आशीर्वाद दें। 

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। यहां क्लिक करके व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन कर सकते हैं। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !