MP NEWS- कर्मचारियों ने पेंशन नहीं तो वोट नहीं के नारों के साथ मंडला विधायक का घेराव किया

भोपाल।
 जैसे-जैसे चुनाव का समय करीब आते जा रहा है, वैसे-वैसे पुरानी पेंशन बहाली के लिए कर्मचारियों का आन्दोलन तीव्र होते जा रहा है। एनएमओपीएस के आह्वान पर चार संभागीय महाकुंभ के बाद भोपाल में जबरदस्त एक दिवसीय धरना-प्रदर्शन कर प्रदेश के कर्मचारियों ने इस वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए अपनी रणनीति को स्पष्ट कर दिया है। कर्मचारियों के पेंशन पुरुष कहे जाने वाले एनएमओपीएस के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजय बंधु के आह्वान पर मध्यप्रदेश के कर्मचारियों ने 19 फरवरी को क्षेत्रीय विधायकों का घेराव कर ज्ञापन सौंपा।

इसी क्रम में ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के मार्गदर्शन और एनएमओपीएस जिलाध्यक्ष संजीव सोनी, जिला संयोजक अमरसिंह चंदेला के नेतृत्व में सैकड़ों कर्मचारियों ने मंडला विधानसभा क्षेत्र के कद्दावर विधायक देवीसिंह सैंयाम को मुख्यमंत्री एवं विधानसभा अध्यक्ष के नाम पुरानी पेंशन बहाली का ज्ञापन सौंपा। बड़े सौहार्दपूर्ण वातावरण में कर्मचारियों ने विधायक देवीसिंह सैंयाम से पेंशन को लेकर अपनी पीड़ा व्यक्त की। उन्हें बताया गया कि उनके गृहग्राम में पदस्थ रहे शिक्षक विनीत नामदेव को सेवानिवृत्त होने पर 1800 रूपए की पेंशन मिल रही है, जिसमें ताउम्र एक रूपए की बढ़ोत्तरी नहीं होगी। उनकी बीस साल की सेवा अवधि की गणना ना होने से उन्हें ग्रेच्युटी में एक रुपए भी नहीं मिले, जिसके वे हकदार हैं।

विधायक महोदय ने कर्मचारियों की पुरानी पेंशन की मांग का समर्थन करते हुए कहा कि वे विधानसभा सत्र में मुख्यमंत्री से मिलकर कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाली पर चर्चा जरूर करेंगे और कोशिश करेंगे की कर्मचारियों के प्रतिनिधिमंडल से मुख्यमंत्री के साथ बैठक रखवाकर आमने-सामने बैठाकर इसका समाधान निकाला जाए। लगभग दो घंटे चले इस घेराव संवाद कार्यक्रम में कर्मचारियों ने स्पष्ट कर दिया कि इस बार सभी कर्मचारी सिर्फ और सिर्फ पुरानी पेंशन के लिए वोट ही करेंगे, साथ ही उनके परिवार, रिस्तेदार और अन्य को भी पुरानी पेंशन देने वाले दल को वोट करने के लिए प्रेरित करेंगे।

विधायक मंडला ने कर्मचारियों की मांग पर सहमति जताते हुए आन्दोलन को सही बताया। कर्मचारियों ने "पेंशन नहीं तो वोट नहीं" और "डरने की क्या बात है, विधायक जी हमारे साथ हैं" का नारा लगाया।

इस घेराव कार्यक्रम में ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन की आईटी उपाध्यक्ष रश्मि मरावी, सीमा साहू, राधा उइके, संजना धुर्वे, वंदना सिंह, संतोषी वाडिवा, संगीता परते, ब्लाक अध्यक्ष अमरसिंह चंदेला, हरीश बर्मन, भरत विक्रम, हरिओम सिरोठिया, विश्नू भूमिया, विजेंद्र वरकड़े, अजय सैयाम, भूरालाल सैयाम, भागचंद मरावी, रामकृपाल साहू, दया लाल कुलेश, गोलू जैन, राकेश कौशल, सुनील पंजवानी, अनिल उइके, पी एस ठाकुर, श्री कुमार मरावी, महेश तिवारी, आशीष तिवारी, उमाशंकर तिवारी, सुरेश श्रीवास्तव, मनीष कटकवार, नफीस खान, लक्ष्मण धुर्वे, डी एल यादव, दर्शन गोस्वामी, राकेश मरावी, महेश सिंगौर, भुवनेश्वर धूमकेतु, धनीराम कुंजाम, प्रेमलाल उइके, बसंत मरावी, बसंत परते, मुलायम परते, गिरानी उडावी, देव कुमार मरकाम, देवलाल उइके, हीरा मलगाम, नरसिंह उइके, पंजूलाल उइके, पतिराम डिबरिया, हरदयाल पंद्रो, हिम्मत सिंह मरकाम, संदीप चंदेला, रामसिंह मरकाम, संजीव सोनी सहित सैकड़ों कर्मचारी उपस्थित रहे।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !