MPPSC NEWS- सेट से पहले असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती नामंजूर, उम्मीदवारों द्वारा विरोध शुरू

इंदौर। स्टेट एलिजिबिलिटी टेस्ट से पहले असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसे लेकर उम्मीदवारों में काफी नाराजगी देखी जा रही है। जिन उम्मीदवारों ने पीजी के बाद अब तक यूजीसी नेट क्लियर नहीं कर पाया है और पीएचडी भी नहीं है उनका कहना है कि सेट से पहले सहायक प्राध्यापक की भर्ती उनके साथ अन्याय है।

मध्य प्रदेश असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती में इंटरव्यू के प्रावधान से भी नाराजगी

मध्य प्रदेश के उच्च शिक्षा विभाग ने सरकारी कॉलेजों में 36 विषयों के असिस्टेंट प्रोफेसर की 1669 पदों पर भर्ती निकाली है। जिनमे से सबसे ज्यादा 200 पद अंग्रेजी तथा 160 पद केमिस्ट्री विषय में है। इस बार उम्मीदवारों को असिस्टेंट प्रोफेसर बनने के लिए इंटरव्यू से भी गुजरना होगा। पिछली बार प्रतियोगी परीक्षा के आधार पर ही भर्ती की गई थी, पर इस बार उम्मीदवारों का अंतिम चयन प्रतियोगी परीक्षा और इंटरव्यू में मिले अंकों के आधार पर किया जाएगा। इसे लेकर भी उम्मीदवारों में असंतोष बना हुआ है। कैंडीडेट्स का कहना है कि पीजी करने के बाद यूजीसी नेट, पीएचडी या फिर एमपी सेट क्लियर करने के बाद असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती परीक्षा दे सकते हैं। क्या इतनी योग्यता काफी नहीं है। कैंडीडेट्स को डाउट है कि इंटरव्यू के नाम पर गड़बड़ी होगी। वैसे भी मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग और सहायक प्राध्यापक भर्ती परीक्षाएं अक्सर विवादित रहते हैं और एमपीपीएससी के फैसलों को हाई कोर्ट में चैलेंज किया जाता है।

पीएससी द्वारा मांगी गई क्वालिफिकेशन आवेदन की आखिरी तारीख तक होनी चाहिए। अभी तक पीएससी ने स्टेट इलिजबिलिटी टेस्ट (सेट) का नोटिफिकेशन जारी किया है। इससे पहले यह भर्ती निकलने से विरोध भी शुरू हो गया है। ऐसे उम्मीदवार पीजी के साथ जिनके पास यूजीसी-नेट या फिर पीएचडी की क्वालिफिकेशन नहीं हैं, वे सेट का इंतजार कर थे। उम्मीदवारों का कहना है यह भर्ती 5 साल बाद आई है।

सेट नहीं होने से प्रदेश के उम्मीदवारों को नुकसान होगा। इसलिए पहले सेट हो और इसका रिजल्ट आने तक तक आवेदन जमा कराएं। पीएससी के प्रस्तावित एग्जाम कैलेंडर के अनुसार सेट-2022 का आयोजन 9 अप्रैल 2023 को होगा। भर्ती के लिए प्रतियोगी परीक्षा में कितने प्रश्नपत्र, कितने अंक के होंगे। इंटरव्यू का क्या वैटेज रहेगा? इसे लेकर एग्जाम स्कीम जारी नहीं की है। पीएससी के ओएसडी डॉ. आर पंचभाई का कहना है कि इसे जल्द ही जारी किया जाएगा।

ऑफलाइन परीक्षा

प्रतियोगी परीक्षा ऑफलाइन होगी। यह ओएमआर बेस्ट होगी। इसमें वस्तुनिष्ठ प्रश्न पूछे जाएंगे। ऑनलाइन परीक्षा के लिए पीएससी के पास कोई एजेंसी नहीं है।

परीक्षा में सफल होने के लिए अनारक्षित वर्ग के उम्मीदवार को हर प्रश्नपत्र में न्यूनतम 40 प्रतिशत और आरक्षित वर्ग को 10 प्रतिशत अंक लाना जरूरी होगा। परीक्षा में पास होने के बाद इंटरव्यू के लिए पद से 3 गुना उम्मीदवारों को बुलाया जाएगा। इंटरव्यू में अनुपस्थित रहने वाले उम्मीदवारों को चयन के लिए अपात्र माना जाएगा। ओबीसी आरक्षण के विवाद के कारण कारण कुल पदों में से 87 प्रतिशत को मुख्य भाग मानकर इन पदों पर भर्ती की जाएगी।अधिकतम आयुसीमा में तीन वर्ष की छूट है।

श्रेणीवार पद

अनारक्षित- 554, SC- 153, ST- 643, OBC- 242, EWS- 77,

आ‌वेदन की टाइम लाइन

15 फरवरी से 14 मार्च तक होंगे आवेदन- 

जीव रसायन (पद 01), वनस्पति शास्त्र (126), रसायनशास्त्र (160), रसायन भौतिक (01), काॅमर्स (124) रसायन ऑर्गेनिक (01) 

20 फरवरी से 19 मार्च तक कर सकेंगे आवेदन- 

नृत्य (02), अर्थशास्त्र (104), अंग्रेजी (200), भूगोल (23), भूगर्भशास्त्र (07), पर्यावरण विज्ञान (01) 

1 से 31 मार्च तक आवेदन- 

हिंदी (116), इतिहास (77), गृह विज्ञान (42), विधि (29), मराठी (04), गणित (124)