INDORE NEWS- कांग्रेस MLA को हाईकोर्ट से भी जमानत नहीं, सरकारी गोदाम में डकैती का आरोप

इंदौर
। मध्य प्रदेश की आलोट विधानसभा सीट से विधायक एवं कांग्रेस के नेता मनोज चावला को हाईकोर्ट से भी अग्रिम जमानत नहीं मिली। रतलाम में उनके खिलाफ सरकारी गोदाम में डकैती का मामला दर्ज किया है। समाचार लिखे जाने तक पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार नहीं किया है। घटना दिनांक 10 नवंबर 2022 की है।

विधायक मनोज चावला ने किसानों के आंदोलन का नेतृत्व किया था

उच्च न्यायालय में, विधायक मनोज चावला की तरफ से उनके अभिभाषक ने तर्क दिया कि चावला को गलत तरीके से फंसाया गया है। चावला का अभियोग पूरी तरह से राजनीतिक रूप से उन्मुख दुश्मनी पर आधारित है, क्योंकि वे आलोट विधानसभा के वर्तमान विधायक हैं। वास्तव में, उर्वरक वितरण में विभिन्न अनियमितताओं के बारे में निराश किसानों की शिकायतों के बाद चावला गोदाम पर पहुंचे थे और किसानों को खाद देने के लिए कहा था। स्थानीय किसानों के पक्ष में एक औपचारिक आंदोलन था। सार्वजनिक नेता होने के नाते चावला पर निर्भर था कि वे किसानों की जरूरतों को पूरा करे, जिन्हें समय पर उर्वरकों की सख्त जरूरत थी, अन्यथा फसलों के विकास पर संकट था। असंतुष्ट किसानों के हित में की गई चावला की वास्तविक अपील शिकायतकर्ता को अस्वीकार्य हो गई और झूठी रिपोर्ट दर्ज कराई गई।

विधायक ने आंदोलन नहीं डकैती डाली थी, सरकारी वकील ने हाईकोर्ट को बताया

शासन की तरफ से डिप्टी एडवोकेट जनरल अमित सेठ ने अग्रिम जमानत याचिका का कड़ा विरोध किया। उन्होंने पक्ष रखा कि स्थिति की जटिलता जानने के लिए, उपलब्ध वीडियो क्लिपिंग स्वयंसिद्ध हैं और डकैती के एक स्पष्ट मामले को प्रकट करते हैं। ये आगे दर्शाते हैं कि आवेदक की शह पर, जो एक जननेता होने के नाते, खाद के गोदाम को स्थानीय लोगों द्वारा लूटा गया था। वीडियो क्लिप में यह दर्शाया गया है कि भीड़ का नेतृत्व आवेदक (चावला) ने किया था तथा गोदाम का शटर खोला और किसानों को खाद से भरी बोरियों को लूटने के लिए उकसाया। 

सुनवाई के बाद शनिवार को न्यायालय (न्यायमूर्ति संजय द्विवेदी) ने अग्रिम जमानत का याचिका निरस्त करने का फैसला दिया।

विधायक ने गोदाम का शटर उठाकर किसानों को खाद ले जाने के लिए कहा था

10 नवंबर 2022 को सर्वर डाउन होने से दोपहर तक कुछ किसानों को ही खाद वितरण केंद्र आलोट से खाद मिला था। शेष किसान केंद्र पर लाइन लगाकर खड़े थे। विधायक चावला, कांग्रेस नेता योगेंद्र सिंह जादौन व अन्य साथियों ने केंद्र पहुंचकर पावती रखकर किसानों को खाद देने का कहा था। इसे लेकर विधायक तथा केंद्र कर्मचारियों के बीच बहस हुई थी। विधायक ने गोदाम का शटर उठाकर किसानों से खाद लेने के लिए कहा था। कई किसान गोदाम से खाद की बोरियां ले जाने लगे थे। बाद में स्टाक मिलाने पर 28 बोरियां खाद कम पाई थी।

लूट के बाद बढ़ाई थी डकैती की धारा

गोदाम संचालक की रिपोर्ट पर विधायक चावला, कांग्रेस नेता जादौन व अन्य के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा व लूट का मामला दर्ज किया गया था। बाद में प्रकरण में डकैती की धारा बढ़ाई गई। कांग्रेस नेता जादौन को पुलिस ने गिरफ्तार कर 11 नवंबर को जनप्रतिनिधि विशेष न्यायालय इंदौर में पेश किया था, जहां से जादौन को जेल भेजा गया था। 

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल पर कुछ स्पेशल भी होता है।