INDORE NEWS- विधायकों के कारण आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को 2 महीने बाद स्मार्टफोन

इंदौर।
आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए खरीदे गए 10-10 हजार रुपए वाले स्मार्टफोन का वितरण कार्यक्रम शुरू हो चुका है। मध्य प्रदेश के अन्य जिलों की तुलना में इंदौर 2 महीने पीछे चल रहा है। मोबाइल फोन स्टॉक में होने के बावजूद महिला कर्मचारियों को वितरित नहीं किए गए थे क्योंकि इंदौर के विधायक नहीं चाहते थे।

खरीदारी बहुत पहले हो गई थी, वितरण अब कर रहे हैं

2021 में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को स्मार्ट फोन देने की घोषणा की गई थी। प्रदेश के कई शहरों में इनका वितरण भी हो गया। इंदौर में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा इसकी खरीदी भी काफी पहले ही कर ली गई थी। बताया जाता है कि विभाग ने 9500 रुपए कीमत के सैमसंग कंपनी के 1911 मोबाइल खरीदे जिनकी कीमत 1.81 करोड़ रु. है। इन्हें 1840 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं व 72 पर्यवेक्षकों को वितरित किया जाना था, लेकिन इस बीच प्रवासी भारतीय सम्मेलन व ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट की तैयारियों की व्यस्तता के चलते दो माह की देरी हो गई।

विधायकों ने 2 महीने तक मोबाइल फोन का वितरण रोक कर रखा

इंदौर के विधायकों ने 2 महीने तक आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को मोबाइल फोन का वितरण रोक कर रखा। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की संख्या 2000 है। कोई बड़ा वोट बैंक नहीं है लेकिन लोगों को बताने, जताने, और फोटो जारी करने का एक मौका कोई नहीं छोड़ना चाहता था। विधायकों के फोटो के चक्कर में 2 महीने तक आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को मोबाइल फोन नहीं मिले। 3 दिन पहले सांवेर विधानसभा में विधायक श्री तुलसीराम सिलावट में मोबाइल फोन वितरण कार्यक्रम शुरू किया और अब विधानसभा 3 में आकाश विजयवर्गीय।

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल पर कुछ स्पेशल भी होता है।