हड़ताल से पहले संविदा बिजली कर्मचारियों का 14% महंगाई भत्ता बढ़ाया- MP NEWS

भोपाल
। मध्यप्रदेश में लगभग 20 दिनों तक चली संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की हड़ताल के बाद संविदा बिजली कर्मचारी हड़ताल पर जाने वाले थे परंतु इससे पहले ही सरकार ने उनका महंगाई भत्ता बढ़ा दिया। बिजली कंपनी में काम करने वाले करीब 6000 संविदा अधिकारी एवं कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़ाया गया है। 

संविदा बिजली कर्मचारियों का वेतन ₹5000 तक बढ़ा

बता दें कि वर्तमान में संविदा पर कार्यरत इन कर्मचारियों को वर्तमान में 20 फीसदी महंगाई भत्ता दिया जा रहा है। अब सरकार ने महंगाई भत्ते को बढ़ाकर 34 फीसदी कर दिया है। जो नियमित कर्मचारियों के बराबर है। यानी सरकार ने महंगाई भत्ते में 14 फीसदी की बढ़ोतरी की है। सरकार कर्मचारियों को यह डीए एक जनवरी 2023 से देगी। इस बढ़ोतरी के बाद हर वर्ग के कर्मचारियों-अधिकारियों को 2 से 5 हजार तक बढ़ी हुई सैलरी मिल पाएगी।

एक तबका अभी भी संतुष्ट नहीं 

हालांकि, इसके बाद भी केंद्रीय क्षेत्र के बिजली विभाग का एक तबका अभी भी संतुष्ट नहीं है और उनकी नाराजगी का कारण उनके संविदा परीक्षण सहायकों की बुनियादी विसंगति का मसला हल नहीं होना है। बता दें कि कई कर्मचारियों ने सरकार को चेतावनी दी है कि अगर उनकी संविदा कर्मचारियों को नियमित करने या आउटसोर्स कर्मचारियों को विभाग में मर्ज करने जैसी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो वे हड़ताल पर चले जाएंगे।

नाराज कर्मचारियों ने सरकार को नया अल्टीमेटम दिया

असंतुष्ट वर्ग का कहना है कि मुख्य ऊर्जा सचिव ने हमें आश्वासन दिया था कि 15 दिनों के भीतर उनकी मुख्यमंत्री शिवराज से मुलाकात होगी। वहां पर उनकी मांगों को रखा जाएगा. कर्मचारियों का कहना है कि अगर वे मुख्यमंत्री शिवराज से नहीं मिलते हैं और उनकी मांगें नहीं मानी जाती हैं तो वे 20 जनवरी से हड़ताल पर चले जाएंगे।