MP NEWS- बिलगड़ा बांध पर मुख्यमंत्री की छापामार कार्रवाई, 5 अधिकारी सस्पेंड

भोपाल
। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज डिंडोरी जिले में बन रहे बिलगड़ा बांध पर छापामार कार्रवाई की। वह अचानक बिलगड़ा बांध पहुंच गए। बांध के निर्माण कार्य और गुणवत्ता को देखा और घटिया निर्माण पाए जाने पर EE, SDO एवं AE को सस्पेंड कर दिया। मुख्यमंत्री आज इतने गुस्से में थी कि उन्हें जहां भी गड़बड़ी दिखाई दी, जिम्मेदार अधिकारी को सस्पेंड करते चले गए। समाचार लिखे जाने तक कुल 6 अधिकारी कर्मचारियों को सस्पेंड किया जा चुका था। 

मुख्यमंत्री को तथ्यों के साथ शिकायत मिली थी

बताया गया है कि मुख्यमंत्री को बांध के निर्माण के विषय में शिकायत मिली थी। तथ्यों के साथ बताया गया था कि बांध निर्माण में गड़बड़ी की जा रही है। कारण बांध का मामला पूरा मध्यप्रदेश देख चुका है। अगली बरसात में ऐसा कुछ हुआ तो बांध के साथ सरकार भी गिर सकती है। इसलिए मुख्यमंत्री ने छापामार कार्रवाई करने का फैसला लिया। 

MP NEWS- शिकायत की पुष्टि होते ही EE, SDO सहित 5 अफसर सस्पेंड

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शनिवार को पहले डिंडौरी पहुंचे। उनका हेलीकॉप्टर शहपुरा तहसील मुख्यालय में करीब डेढ़ बजे उतरा। जिले के प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री का काफिला बिलगड़ा गांव में बन रहे बिलगड़ा बांध पहुंचा। यहां पहुंचकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अफसरों की क्लास ली। शिकायतों को लेकर सीएम ने EE, SDO सहित 5 अफसरों को निलंबित कर दिया। इसके बाद मुख्यमंत्री मंडला के लिए रवाना हो गए।

डिंडोरी में मुख्यमंत्री ने इन अधिकारियों को निलंबित करने का आदेश दिया

सीएम ने डिंडौरी में जल संसाधन एक्जीक्यूटिव इंजीनियर जी एस सांडिया, SDO बेलगांव एमके रोहतास और उपयंत्री एसके चौधरी को निलंबित करने के आदेश दिए। वहीं मुख्यमंत्री ने बड़झर गांव में संचालित बालक आश्रम में गंदगी देखकर नाराजगी जताई और छात्रावास के अधीक्षक कमलेश गोलियां को भी निलंबित कर दिया। बीज वितरण में लापरवाही बरतने पर सीएम ने प्रभारी उपसंचालक कृषि अश्विनी झारिया को भी निलंबित कर दिया। जबकि उत्कृष्ट कार्य करने के लिए जिला प्रबंधक ई-गवर्नेंस दीपक साहू को सम्मानित किया।

मंडला में अस्पताल पहुंचने पर सीएम ने सिविल सर्जन डॉ. कृपाराम शाक्य को सस्पेंड करने के निर्देश दिए।

बांध के काम में लापरवाही पर कार्रवाई

बिलगड़ा में बांध निर्माण के दौरान नहर के निर्माण में जमकर लापरवाही बरती गई है। इसको लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को शिकायतें मिली थीं। इस पर उन्होंने औचक निरीक्षण किया। सीएम सुबह भोपाल में एक कार्यक्रम के बाद विशेष विमान से जबलपुर पहुंचे। यहां से वे हेलिकॉप्टर से डिंडौरी पहुंचे। काफिले में उनके साथ कलेक्टर विकास मिश्रा, पुलिस अधीक्षक संजय सिंह, SDM काजल जावला साथ रहे।