JABALPUR में कर्मचारियों का पेंशन महाकुंभ, सरकार को दी चेतावनी- MP NEWS

जबलपुर
। रविवार को ग्वारीघाट जबलपुर में आयोजित द्वितीय पेंशन महाकुंभ में मंडला जिले के शिक्षक संघ, पंचायत सचिव संघ, पटवारी संघ, स्वास्थ्य विभाग, वन विभाग, रेलवे कर्मचारी के साथ ही अन्य विभागों के अधिकारियों-कर्मचारियों ने हजारों की संख्या में महाकुंभ में शामिल होकर कार्यक्रम को भव्य बनाया। 

इस महाकुंभ को संबोधित करते हुए ट्राईबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के प्रांत अध्यक्ष डीके सिंगौर ने वोट पर चोट करते हुए "पेंशन नहीं, तो वोट नहीं" का नारा बुलंद किया। साथ ही उन्होंने सभी कर्मचारियों से संघवाद से ऊपर उठकर एनएमओपीएस के बेनर तले महासंघ के कार्यक्रम में शामिल होकर पुरानी पेंशन की मांग को बुलंद करने का आह्वान किया। 

ट्वेटा की महत्वपूर्ण सहभागिता

पेंशन महाकुंभ में ट्राईबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेश भर के हजारों शिक्षकों ने अपनी सहभागिता दी। मंडला जिले के जिला अध्यक्ष दिलीप मरावी एवं प्रांतीय उपाध्यक्ष रश्मि मरावी के नेतृत्व में हर ब्लॉक से सैकड़ों शिक्षक महाकुंभ में शामिल हुए, जिसमें इस बार महिलाओं की उपस्थिति काबिले तारीफ रही। गुरुजी संघ के जिलाध्यक्ष एवं जिले के प्रसिद्ध लोकगीत गायक श्याम बैरागी ने एनपीएस डायन पर शानदार गीत प्रस्तुत किया, वहीं बीजाडांडी की टीम द्वारा प्रस्तुत ओपीएस कब्बाली ने सबको मंत्रमुग्ध कर दिया।

महासंघ का महत्वपूर्ण योगदान

जिले के ब्लॉकों में गठित विभिन्न संगठनों के महासंघ के ब्लॉक अध्यक्षों ने इस महाकुंभ में सभी विभागों की उपस्थिति सुनिश्चित कराते हुए तन मन धन से सहयोग कर पेंशन महाकुंभ को सफल बनाया। इस महाकुंभ में शिक्षकों के साथ सचिव, पटवारी, वन विभाग, स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने कंधे से कंधा मिलाकर पुरानी पेंशन की मांग करते हुए सरकार को चेतावनी दी।

राष्ट्रीय अध्यक्ष विजय बंधु की अपील

एनएमओपीएस के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजय बंधु ने महाकुंभ को संबोधित करते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री और देश के प्रधानमंत्री को चेतावनी देते हुए कहा कि आप सरकार में रहते हुए सरकारी कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाल करें, बदले में कर्मचारी आपको पुनः सरकार बनाने में सहयोग करेंगे और यदि कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाल नहीं हुई, तो कर्मचारी पुरानी पेंशन बहाल करने वाली पार्टी को वोट करेंगे और कराएंगे। 

उन्होंने सभी कर्मचारियों से दोनों हाथ उठाकर संकल्प दिलाया कि इस बार सभी कर्मचारी जाति, धर्म और दिखावटी देशभक्ति के नाम पर वोट ना देकर अपने बुढ़ापे और आने वाली भावी पीढ़ी के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए मतदान करेंगे। उन्होंने मध्यप्रदेश के शिक्षा मंत्री से पुरानी पेंशन की मांग करने वाले बैतूल के शिक्षकों के निलंबन की कार्रवाई की कड़ी निंदा की और तुरंत उन्हें बहाल करने की मांग की। उन्होंने पढ़े-लिखे शिक्षित कर्मचारियों एवं नागरिकों से ऐसे मंत्री-नेताओं द्वारा आयोजित अनपढ़ों की भीड़ में शामिल नहीं होने की अपील की। 

उन्होंने मंचासीन सभी संघ के प्रांताध्यक्षों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि पुरानी पेंशन बहाल होने तक सभी अपना नाम और अपने संगठन के नाम को भूलकर नियुक्ति दिनांक से पेंशन के लिए एनएमओपीएस के बैनर तले एकजुट होकर आंदोलन करें और पेंशन मिल जाने के बाद अपने अपने संघ के नाम से अपने विभाग के कर्मचारियों की समस्याओं के निराकरण के लिए काम करते रहें। 

एनएमओपीएस के प्रांत अध्यक्ष परमानंद डेहरिया एवं ट्राईबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के संभागीय अध्यक्ष संदीप वर्मा ने प्रदेश के कोने-कोने से एकत्रित हुए सभी कर्मचारियों, अधिकारियों एवं संगठनों के पदाधिकारियों को धन्यवाद देते हुए आभार प्रकट किया। कार्यक्रम का सफल मंच संचालन ट्राईबल वेलफेयर एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष दिलीप मरावी ने किया।