मध्य प्रदेश मानसून- केरल वाले बादल गायब, पंजाब वाले कमजोर, दक्षिण-पश्चिम वाले शेष- MP WEATHER

भोपाल
। दीपावली के अवसर पर मौसम साफ रहने की प्रार्थना करने वालों के लिए गुड न्यूज़ है। मध्य प्रदेश के आसमान से केरल वाले बादल गायब हो चुके हैं। पंजाब का चक्रवात कमजोर पड़ गया है इसलिए उसके बादल भी हवा में घुल रहे हैं। अब केवल दक्षिण पश्चिम वाले मानसून के बादल बचे हैं। वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि अब कोई धोखा नहीं होगा। रविवार तक मानसून की विदाई हो जाएगी। 

मध्य प्रदेश मौसम समाचार- कहां-कहां बरसात हुई

मानसून के बादलों ने इस बार मध्यप्रदेश के आसमान में काफी लुकाछिपी खेली है। कुछ दिनों पहले वापस जाते हुए दिखाई दिए थे और फिर अचानक यूटन लेकर लौट आए। कभी आंध्र प्रदेश, कभी केरल और कभी ओडिशा के रास्ते मध्यप्रदेश के आसमान पर आकर बरसने लगते थे। आज बुधवार सुबह साढ़े आठ बजे तक मलाजखंड में 87.2, सतना में 15.7, छिंदवाड़ा में 10.8, रीवा में 9.4, मंडला में आठ, खंडवा में 6.8, जबलपुर में 5.4, खजुराहो में चार, धार में 3.5, खरगोन में 2.2, सागर में दो, बैतूल में 0.4 मिलीमीटर वर्षा हुई। 

मध्य प्रदेश मौसम का पूर्वानुमान- 3 संभागों में कुछ स्थानों पर हल्की बारिश होगी

भारत मौसम विज्ञान विभाग के अंतर्गत मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि अब भोपाल, इंदौर, उज्जैन, नर्मदापुरम, सागर, ग्वालियर, चंबल संभागों के जिलों में मौसम साफ होने लगेगा। हालांकि तापमान में अधिक बढ़ोतरी होने पर कहीं–कहीं छिटपुट बौछारें पड़ सकती हैं। पैमाने पर नमी मौजूद रहने के कारण अभी दो-तीन दिन तक रीवा, शहडोल, जबलपुर संभागों में कहीं-कहीं मध्यम वर्षा होगी। इस बार पूरी संभावना है कि चार दिन में मध्य प्रदेश से मानसून की विदाई का सिलसिला भी शुरू होने लगेगा।