JU GWALIOR NEWS- छुट्टी के दिन खुली यूनिवर्सिटी, बिना रिश्वत के मार्कशीट मिलीं

ग्वालियर
। जीवाजी विश्वविद्यालय में शिक्षक भर्ती उम्मीदवारों और कर्मचारियों के बीच भारी तनाव के बाद अंततः शनिवार को छुट्टी के बावजूद यूनिवर्सिटी ओपन की गई और 400 से ज्यादा मार्कशीट वितरित की गई। आरोप लगाए गए थे कि यूनिवर्सिटी के कर्मचारी मार्कशीट देने के बदले में रिश्वत मांग रहे हैं और रिश्वत के बिना मार्कशीट नहीं दी जा रही।

जीवाजी यूनिवर्सिटी कैंपस में शिक्षक भर्ती उम्मीदवार, छात्र नेता और कर्मचारियों के बीच काफी तनाव की स्थिति बन गई थी। परिस्थितियों की गंभीरता को देखते हुए शनिवार को यूनिवर्सिटी ओपन करने का फैसला लिया गया। सुबह 9 बजे कुलपति प्रो. अविनाश तिवारी भी निरीक्षण करने पहुंच गए। बुलाने के बावजूद कर्मचारी काम पर नहीं आए थे। कुलपति को सब को कॉल करके बुलवाना पड़ा। वहीं छात्र नेता वंश माहेश्वरी भी विद्यार्थियों के साथ पूरे समय मौजूद रहे।

उल्लेखनीय है कि उच्च माध्यमिक शिक्षक और माध्यमिक शिक्षक भर्ती प्रक्रिया आयोजित की जा रही है। इसके लिए 16 अक्टूबर प्रोफाइल अपडेशन की आखिरी तारीख है। भर्ती परीक्षा पास कर योग्यता प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को अपनी अर्हकारी मार्कशीटें अपलोड करना है, जिन विद्यार्थियों को अब तक जेयू से मार्कशीट नहीं मिली थी या जिनकी मार्कशीट में करेक्शन थे अथवा डुप्लीकेट मार्कशीट की मांग को लेकर पिछले सात दिन से लगातार विद्यार्थी पहुंच रहे थे। 

शुक्रवार की शाम को 100 से ज्यादा ऐसे विद्यार्थी इकट्‌ठे हो गए थे, जिनकी मार्कशीट नहीं मिल रही थी, ऐसे में हंगामा हो गया। छात्रों ने आरोप लगाया था कि कर्मचारी उन्हें परेशान कर रहे हैं और मार्कशीट नहीं बना रहे हैं, इसके बाद विद्यार्थियों ने कुलपति सचिवालय के बाद बाहर प्रदर्शन कर दिया, शाम 7 बजे तक प्रदर्शन चला, इस दौरान कर्मचारी भी छात्रनेताओं पर अभद्रता का आरोप लगाकर काम बंद कर गए थे।

शुक्रवार शाम सात बजे कुलपति प्रो. अविनाश तिवारी ने विद्यार्थियों को आश्वासन दिया कि शनिवार को अवकाश के दिन भी यूनिवर्सिटी खुलेगी। शनिवार को सुबह 9 बजे कुलपति प्रो. अविनाश तिवारी यूनिवर्सिटी यह देखने के लिए पहुंच गए कि कर्मचारी विद्यार्थियों की मार्कशीट बनाने पहुंचे हैं या नहीं, इस समय विद्यार्थी तो इकट्‌ठे होने लगे थे लेकिन कर्मचारी नहीं थे, कुलपति ने अफसरों के जरिए कर्मचारियों को फोन लगवाकर बुलाया। 

शाम 6.30 बजे तक जेयू में काम चलता रहा। परीक्षा नियंत्रक डॉ. अनिल कुमार शर्मा, प्रभारी रजिस्ट्रार राजीव मिश्रा, असिस्टेंट रजिस्ट्रार जगपाल सिंह, कुलदीप चौहान, अमित सिसौदिया, डीके वर्मा दिन भर मार्कशीट बनाने के काम की मॉनीटरिंग करते रहे। इस सब के बावजूद 50 उम्मीदवारों को मार्कशीट नहीं दी जा सकी थी। उनको रविवार को मार्कशीट देने का आश्वासन दिया गया।