JABALPUR GOOD NEWS- 2017 के बाद इस साल भी होगा झील महोत्सव, तैयारियां शुरू

जबलपुर
। जबलपुर संभाग एवं आसपास के इलाकों की जिलों के नागरिकों के लिए अच्छी खबर है। 2017 के बाद इस साल फिर बरगी में झील महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। वाटर स्पोर्ट्स होंगे, जिन्हें देखने में बड़ा आनंद आएगा। जबलपुर टूरिज्म एडं प्रमोशन काउंसिल (जेटीपीसीएल) ने करीब 60 लाख रुपये का प्रस्ताव बनाकर शासन को मंजूरी को लिए भेजने जा रहा है। यदि सब कुछ ठीक हुआ तो शीतकाल में पर्यटकों को वाटर स्पोर्ट्स का रोमांच देखने को मिल सकता है।

जबलपुर टूरिज्म एडं प्रमोशन काउंसिल के हेंमत सिंह ने बताया कि झील महोत्सव की शुरुआत 2017 में हुई थी। इसे हर साल आयोजित किया जाना था, इसका उद्देश्य पर्यटन को बढ़ावा देना था। पहली बार बड़े स्तर पर यह आयोजन हुआ। बरगी के समीप ही टापूनुमा स्थल को आयोजन के लिए तैयार किया गया। करीब दो करोड़ 16 लाख रुपये की लागत से इको टूरिज्म के तहत वाटर स्पोर्ट्स की गतिविधियों का स्थायी संचालन के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार किया गया। मुख्य मार्ग से घाट तक कांक्रीट का पक्का मार्ग बनाया गया। पर्यटकों के लिए जगह-जगह दिशा-सूचक और सुविधाएं दी गईं। झील महोत्सव करीब दस दिन के लिए आयोजित होगा।

पिछले साल इसकी अवधि 12 दिन थी। पर्यटकों को मप्र पर्यटन विभाग के रिसार्ट के अलावा टेंटनुमा आधुनिक सुविधा वाले कमरों में ठहराने की व्यवस्था दी जाती है। करीब 15 विशेष कमरे पर्यटकों के लिए तैयार होंगे। इस बार जबलपुर टूरिज्म एडं प्रमोशन काउंसिल ने तय किया है कि मुनाफे को आधा-आधा किया जाएगा। निजी कंपनी सारे आयोजन करेगी। उससे होने वाली आय का आधा हिस्सा काउंसिल को मिलेगा। इससे पहले हुए आयोजन में ऐसा नहीं हुआ था। निजी एजेंसी ने आयोजन से जुड़ा खर्च विभाग से करवाया और मुनाफा भी कमा कर चली गई थी।

वाटर स्पोर्ट्स के मुख्य आकर्षण
-वोट सर्फिंग
-रिंगो राइड
-पैरासेलिंग
-पैरा मोटर सेलिंग
-वाटर बैलून