GWALIOR और SHIVPURI के बांधों के गेट इमरजेंसी में खोले, पार्वती नदी ओवरफ्लो

ग्वालियर
। चिंता बढ़ाने वाला मौसम समाचार है। मूसलाधार बारिश के कारण तिघरा बांध ग्वालियर और मणिखेड़ा बांध शिवपुरी के दरवाजे आपातकाल की स्थिति में खोले गए। पार्वती नदी ओवरफ्लो हो गई है। श्योपुर-कोटा हाईवे बंद हो गया है। भिंड, मुरैना और दतिया में भी बारिश हो रही है। 

तिघरा बांध- 1 दिन में 3.50 फीट जलस्तर बढ़ गया

ग्वालियर चंबल संभाग में पिछले 5 दिनों से लगातार कहीं कम कहीं ज्यादा बारिश हो रही है। ग्वालियर में रात में तिघरा बांध के गेट खोलना पड़ गए। बांध में एक दिन में साढ़े तीन फीट पानी आने से जलस्तर 738.50 फीट हो गया। रात 11.20 बजे सायरन बजा और 11.45 बजे 3 गेट खोल दिए गए। शिवपुरी में मड़ीखेड़ा बांध के 2 गेट खोले गए हैं। नागरिकों से अपील की गई है कि कृपया नदी नालों के पास ना जाएं। बांध के पानी के रास्ते में किसी भी प्रकार की गतिविधि का संचालन ना करें। अपनी सुरक्षा के प्रति अलर्ट रहें।

मौसम समाचार- श्योपुर-कोटा हाईवे बंद, खातौली पुल डूब गया

पार्वती नदी के ओवरफ्लो होने से श्योपुर में खातौली पुल डूब गया।‎ इससे श्योपुर-कोटा मार्ग बंद हो‎ गया। पुलिस ने दोनों तरफ ट्रैफिक जाम करवा दिया है। इस मार्ग पर आने वाले यात्रियों से अपील की जा रही है कि कृपया प्रतीक्षा करें और संभव हो तो वैकल्पिक मार्ग का उपयोग करें।

ग्वालियर-चंबल अंचल के भिंड, मुरैना और दतिया में भी बारिश हो रही है। अपर ककैटो, ककैटो और पेहसारी बांध फुल हो गए हैं। आज की तारीख में ग्वालियर के आसपास वाले बांधों में इतना पानी है कि 2 साल तक पूरे ग्वालियर की प्यास बुझाई जा सकती है।