GWALIOR NEWS- उमा भारती के दामाद ने सैकड़ों लोगों से बंदूकें उठवाईं

ग्वालियर
। लोकसभा चुनाव 2024 में भोपाल सीट से लड़ने की तैयारी कर रही भारतीय जनता पार्टी की महिला नेता उमा भारती के दामाद प्रीतम लोधी ने दशहरा मिलन समारोह में शामिल हुए सैकड़ों लोगों से बंदूकें उठवाईं।

प्रीतम लोधी की सभा में बंदूकें लाने के लिए कहा था

दशहरा मिलन समारोह के नाम पर प्रीतम लोधी ने ग्वालियर में अपने समर्थकों को एकत्रित किया और फिर उन्हें संबोधित करते हुए कहा कि, घबराओ नहीं, शान से बंदूक उठाओ, एक भी लाइसेंस सस्पेंड नहीं होने दूंगा। सूत्रों का कहना है कि यहां पर सैकड़ों युवाओं को अपनी लाइसेंसी बंदूक साथ लेकर आने के लिए कहा गया था। प्रीतम लोधी को एक विवादित बयान के कारण भारतीय जनता पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। इसके बाद प्रीतम लोधी भाजपा के खिलाफ लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। 

उमा भारती की दोहरे दबाव की रणनीति

कुछ पॉलिटिकल क्रिटिक्स का कहना है कि प्रीतम लोधी की गतिविधियां उमा भारती के दोहरे दबाव की रणनीति हैं। प्रीतम लोधी की पत्नी उमा भारती की (बहन की) बेटी हैं। इस प्रकार प्रीतम लोधी, उमा भारती के दामाद हैं। उमा भारती 2024 का लोकसभा चुनाव मध्य प्रदेश से लड़ना चाहती हैं और भोपाल उनकी पहली पसंद है। शिवराज सिंह चौहान उन्हें मध्यप्रदेश में राजनीति करते नहीं देखना चाहते। इसी कारण उमा भारती ने सबसे पहले शराबबंदी के नाम पर प्रेशर की पॉलिटिक्स शुरू की। 

इसी बीच प्रीतम लोधी को भाजपा से निष्कासित कर दिया गया। कहा जा रहा है कि उमा भारती इस मौके का पूरा फायदा उठा रही है। प्रीतम लोधी से लगातार भाजपा के खिलाफ प्रदर्शन करवाए जा रहे हैं और दूसरी तरफ उमा भारती केंद्रीय नेतृत्व को मैसेज दे रही है कि केवल उनके कहने पर प्रीतम लोधी शांत हो सकते हैं।