FLN TEST 2022- 4 जिलों के लिए व्यवस्था परिवर्तन पूरक निर्देश जारी - राज्य शिक्षा केंद्र

भोपाल
। स्कूल शिक्षा विभाग मंत्रालय मध्यप्रदेश शासन के अंतर्गत राज्य शिक्षा केंद्र द्वारा FLN sample baseline test 2022 के संदर्भ में मध्य प्रदेश के 4 जिले धार, छिंदवाड़ा, श्योपुर एवं शिवपुरी के लिए आयोजन में व्यवस्था संबंधी पूरक निर्देश जारी किए गए हैं।

संचालक राज्य शिक्षा केंद्र द्वारा जारी पत्र क्रमांक 5881 के अनुसार दो दिवसीय मास्टर ट्रेनर्स के राज्य स्तरीय उन्मुखीकरण में जिलों से आए डिस्ट्रिक्ट कार्डिनेटर्स द्वारा संज्ञान में लाया गया कि कतिपय जिलों यथा- धार, छिंदवाड़ा में ब्लॉक संख्या अधिक होने से 13 से 15 अक्टूबर 2022 की अवधि में एफएलएन बेसलाइन टेस्ट आयोजित करने में कठिनाई आयेगी। जिला श्योपुर द्वारा बताया गया कि श्योपुर डाईट में डीएलएड प्रशिक्षणार्थियों की संख्या निरंक है अत: एफएलएन बेसलाइन टेस्ट आयोजन में कठिनाई आयेगी। 

उक्त कठिनाईयों के संबंध में निम्नानुसार दिशा-निर्देश प्रदाय किए जा रहे हैं
1. जिला धार एवं छिंदवाड़ा तथा अन्य जिले जहां ब्लॉक संख्या अधिक है तथा पर्याप्त फील्ड इनोस्टीगेटर्स नहीं हैं उन जिलों हेतु दो चरणों 13 से 15 एवं 17 से 19 अक्टूबर 2022 की अवधि में एफ.एल.एन. बेसलाइन संपादित कराया जाए।
2. जिन जिलों में डाईट नहीं है उन जिलों में संबद्ध डाईट / मदर डाईट द्वारा एफ.एल.एन. बेसलाईन टेस्ट संपादित कराया जाए। टेस्ट संपादन हेतु फील्ड इन्वेस्टीगेटर्स की ड्यूटी इस प्रकार लगाई जाए कि प्रथम चरण में मूल डाईट में टेस्ट का आयोजन हो तथा द्वितीय चरण में संबद्ध जिलों में टेस्ट संपादन हेतु ड्यूटी लगाई जाए।
3. श्योपुर जिले में टेस्ट का आयोजन शिवपुरी जिले के द्वारा किया जाएगा।
4. फील्ड इन्वेस्टीगेटर्स के अन्य जिले में जाकर टेस्ट आयोजन करने की स्थिति में फील्ड इन्वेस्टीगेटर्स के द्वारा उपयोग किए गए सार्वजनिक यातायात के साधनों के वास्तविक किराये का भुगतान मूल जिले के डी.पी.सी. कार्यालय द्वारा किया जाएगा।

5. फील्ड इन्वेस्टीगेटर्स को जिस जिले में टेस्ट संपादन हेतु जाना है उस संबंधित जिले के बी.आर. सी. का दायित्व होगा कि वह जनशिक्षकों के माध्यम से, फील्ड इन्वेस्टीगेटर्स को शालाओं तक निर्धारित समय में पहुंचाना सुनिश्चित करें। 

संबंधित जिले के जिला परियोजना समन्वयक का यह दायित्व होगा कि उनके जिले में एफ. एल. एन. बेसलाईन टेस्ट निर्वाध रूप से संपादित हो, इस हेतु उनके द्वारा हर स्तर पर मॉनीटरिंग की रणनीति तैयार की जाए।
शेष निर्देश यथावत रहेंगे।
(धनराजू एस.) संचालक राज्य शिक्षा केंद्र मध्य प्रदेश