JABALPUR NEWS- हाईकोर्ट में हिंसा, वकील का शव रखकर हंगामा, लाठीचार्ज, आगजनी

जबलपुर
। रेप के मामले में आरोपी टीआई संदीप अयाची की जमानत पर बहस के बाद पीड़ित पक्ष के वकील अनुराग साहू ने अपने घर जाकर आत्महत्या कर ली। इसके बाद हाईकोर्ट में हंगामा शुरू हो गया। सैकड़ों वकीलों ने अनुराग साहू का शव हाईकोर्ट में रखकर प्रदर्शन किया। पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। वकीलों ने हाई कोर्ट परिसर में तोड़फोड़ की एवं कुछ वकीलों के चैंबर में आग लगा दी।

जानकारी मिली है कि शुक्रवार को रेप के आरोपी पुलिस अफसर संदीप अयाची की जमानत के मामले में सुनवाई हुई। इस मामले में पीड़ित पक्ष के वकील अनुराग साहू पैरवी कर रहे थे। सुनवाई जज संजय द्विवेदी की कोर्ट में हुई। इस दौरान कोर्ट में लगे लेटर बॉक्स में किसी ने इस केस से जुड़े तथ्यों को लेकर चिट्ठी डाल दी। अनुराग साहू ने कोर्ट से इस मामले की जांच की मांग की। इस पर आरोपी टीआई के वकील मनीष दत्त ने विरोध किया। इसी बात पर दोनों में बहस हो गई। इससे एडवोकेट अनुराग खफा हो गए। नाराज होकर एडवोकेट अनुराग साहू कोर्ट से घर गए और फांसी लगा ली।

हाई कोर्ट में वकील का शव रखकर प्रदर्शन, तोड़फोड़, लाठीचार्ज

जानकारी मिलते ही हाई कोर्ट के सैकड़ों वकील अनुराग साहू का शव लेकर हाई कोर्ट पहुंच गए। यहां उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया। आक्रोशित वकीलों ने कोर्ट में तोड़फोड़ शुरू कर दी। सुरक्षा अधिकारी से भी हाथापाई की। साथ ही वकील कोर्ट में ही धरने पर बैठ गए।

हाईकोर्ट में स्थिति को संभालने के लिए पुलिस ने वकीलों पर लाठीचार्ज किया। प्रदर्शनकारी वकीलों ने अधिवक्ता मनीष दत्त के चैंबर समेत दूसरे वकीलों के चैंबर में भी आग लगा दी। तोड़फोड़ भी कर दी। मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की गाड़ी को भी वकीलों ने लौटा दिया। बताया जा रहा है कि हंगामा कर रहे अधिकतर वकील जिला कोर्ट के हैं।