मध्य प्रदेश मानसून- 8 जिलों में भारी बारिश होगी- MP WEATHER FORECAST

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने मध्य प्रदेश के 8 जिलों में भारी वर्षा की चेतावनी जारी की है। मध्य प्रदेश के कई इलाकों में वज्रपात का खतरा बताया है। उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश के ज्यादातर बांध फुल टैंक लेवल के आस-पास चल रहे हैं। ऐसी स्थिति में भारी बारिश के कारण निचले इलाकों में जलभराव और नदियों में बाढ़ की स्थिति बन सकती है। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के वैज्ञानिकों के अनुसार आठ सितंबर तक मौसम में कोई विशेष परिवर्तन नहीं होगा। अतः सावधान रहें। 

मध्य प्रदेश मौसम का पूर्वानुमान- किस जिले में कितनी बारिश होगी

मौसम केंद्र भोपाल के अनुसार सिंगरौली, सीधी, अनूपपुर, जबलपुर, नरसिंहपुर, मंडला, बालाघाट एवं सागर जिलों में कुछ स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है। मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी किया है। आम नागरिकों, यात्रियों एवं किसानों से अपील की गई है कि वह मौसम को ध्यान में रखते हुए अगले 3 दिनों की योजना बनाएं। रीवा, शहडोल, जबलपुर एवं सागर संभागों के जिलों में अधिकतर स्थानों पर सामान्य बारिश होगी। नर्मदापुरम, भोपाल, इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर एवं चंबल संभागों के जिलों में कुछ स्थानों पर वर्षा होने की संभावना है।

उपरोक्त के अलावा रीवा, शहडोल, जबलपुर, सागर, नर्मदापुरम, भोपाल एवं इंदौर संभाग के जिलों में तथा रतलाम, देवास, उज्जैन, शाजापुर एवं आगर जिलों में हल्की बारिश लेकिन वज्रपात का खतरा बताया गया है। अपील की गई है कि बादलों की गड़गड़ाहट सुनते ही यदि पानी में है तो बाहर निकल आए। किसी भी पेड़ के नीचे खड़े ना रहे। यदि जंगल में है अथवा बारिश हो रही है और संभव हो तो किसी कार के अंदर चले जाएं।