BHOPAL में एक बार फिर महिलाओं की सत्ता, सिर्फ विधायक पद पर पुरुष बचे

भोपाल
। रानी कमलापति और नवाब बेगम के बाद मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक बार फिर महिलाओं की सत्ता स्थापित हो गई। सांसद, महापौर, जिला पंचायत अध्यक्ष, जनपद अध्यक्ष और नगर पालिका अध्यक्ष, सभी पदों पर महिलाएं निर्वाचित हुई हैं। भोपाल में सिर्फ विधायक पदों पर पुरुष बचे हैं। इनमें से भी एक पद श्रीमती कृष्णा गौर के पास है। 

जैसे फैशन बदलकर आता है वैसे ही सत्ता का समीकरण भी बदल कर आया है। राजतंत्र हो या लोकतंत्र, राजधानी भोपाल में महिलाओं की सत्ता उल्लेखनीय रही है। रानी कमलापति भोपाल की पहली महिला शासक थी। उनके बाद करीब 100 साल पहले चार नवाब बेगमों ने भोपाल पर राज किया और अब आजादी के 75 साल बाद चार विधायक पदों को छोड़कर राजनीतिक सत्ता के सभी पदों पर महिलाएं विराजमान हैं। 

भोपाल में वुमन पावर

  • प्रज्ञा सिंह ठाकुर सांसद 
  • मालती राय महापौर 
  • रामकुंवर गुर्जर जिला पंचायत अध्यक्ष 
  • श्रीमती कृष्णा गौर विधायक 
  • श्रीमती लता सिंह बेरसिया जनपद पंचायत अध्यक्ष 
  • इंजीनियर तनुश्री राठौर बैरसिया नगर पालिका अध्यक्ष