GK in Hindi- एक शॉपिंग मॉल जहां चोरी करने वालों को रोका नहीं जाता

शॉपिंग मॉल तो आपने भी बहुत सारे देखे होंगे। सभी शॉपिंग मॉल में एक कॉमन चीज भी देखी होगी। चोरी को रोकने के लिए अत्याधुनिक तरीकों का इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन क्या आप जानते हैं एक शॉपिंग मॉल ऐसा है जहां चोरी करने वाले को ना तो रोका जाता है और ना ही पकड़ा जाता है। 

शॉपिंग मॉल में ग्राहकों को अपना सामान पसंद करने की स्वतंत्रता दी जाती है। जब तक वह पुकारते नहीं, कोई कर्मचारी उन्हें प्रोडक्ट के बारे में बताना भी नहीं आता। इस मॉडल में सबसे बड़ी रिस्क यह होती है कि कुछ ग्राहक अपनी फ्रीडम का दुरुपयोग करते हुए चोरी करने लगते हैं। चोर को पहचानने के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए जाते हैं और चोर को पकड़ने के लिए सेंसर लगाए जाते हैं। 

नॉर्थ वेस्ट वॉलमार्ट के शोरूम की पॉलिसी बिल्कुल अलग है। यहां यदि कोई ग्राहक चोरी कर रहा होता है, कंट्रोल रूम में उसे सीसीटीवी कैमरे पर देखा जा रहा होता है, उसके आस-पास यदि कोई कर्मचारी उसे अपनी आंखों से देख रहा होता है। तब भी उसे ना तो रोका जाता है और ना ही पकड़ा जाता है। दरवाजों पर कोई सेंसर नहीं है। चोर को आसानी से जाने दिया जाता है, क्योंकि कंपनी को लगता है कि यदि शोरूम में चोर को पकड़ा गया दो दूसरे ग्राहकों पर अच्छा असर नहीं पड़ेगा। 

चोरी हो जाने के बाद सभी सबूतों के साथ ग्राहक के खिलाफ पुलिस थाने में FIR दर्ज करवा दी जाती है। क्योंकि वॉलमार्ट के पास अपने हर ग्राहक का पूरा डाटा होता है। KYC अपडेट होती है, इसलिए चोर आसानी से पकड़ लिया जाता है।