BHOPAL-BETUL-NAGPUR हाईवे पर बाढ़, दोनों तरफ ट्रैफिक जाम

भोपाल
। नेशनल हाईवे क्रमांक 69 की हालत किसी गांव की सड़क जैसी हो गई। जब भी बारिश होती है हाईवे पानी में डूब जाता है और बैतूल भोपाल का सड़क संपर्क टूट जाता है। एक बार फिर हाईवे पर बाढ़ आ गई है और दोनों तरफ ट्रैफिक जाम हो गया है। इसी बारिश के कारण भोपाल नागपुर ट्रैफिक भी बंद हो गया है।

सतपुड़ा जलाशय के 14 गेट खोल दिए, तवा नदी में बाढ़

बैतूल जिला प्रशासन की ओर से बताया गया है कि शाहपुर मे माचना नदी उफान पर आ गई। पुल पर पानी होने से आवागमन दोपहर तीन बजे से बंद हो गया। पारसडोह जलाशय के चार गेट खोलने से ताप्ती नदी भी उफान पर है। सारनी में सतपुड़ा जलाशय का जल स्तर बढ़ने के कारण 14 गेट खोल दिए गए हैं। इससे तवा नदी उफान पर आ गई है और पुनर्वास क्षेत्र को जोड़ने वाले नांदिया घाट के पुल पर पानी होने से आवाजाही बंद हो गई है। 

बैतूल में शुक्रवार से मूसलाधार बारिश हो रही है

शुक्रवार रात से प्रारंभ हुई तेज वर्षा शनिवार शाम को भी जारी रही। लगातार वर्षा के कारण नदी-नालों में उफान आ गया। बैतूल के पास से बहने वाली माचना नदी में बाढ़ के कारण बैतूल-इंदौर नेशनल हाइवे 59 ए पर करबला घाट की पर पुल पर से बाढ़ का पानी बहने से मार्ग बंद हो गया। गंज अंडरब्रिज में जल भराव से रास्ता बाधित रहा। शहर की निचली बस्तियों के घरों में पानी घुस गया।

इस सीजन में पांचवीं बार बंद हुआ है भोपाल बैतूल नेशनल हाईवे

शाहपुर से सचिन शुक्ला ने बताया कि माचना नदी में बाढ़ आने के कारण पांचवी बार बैतूल-भोपाल नेशनल हाइवे 69 पर आवागमन बंद हो गया। शनिवार को दोपहर तीन बजे माचना नदी में बाढ़ का पानी आने के कारण नदी पुल के ऊपर से बहने लगी। माचना नदी पर बना हुआ पुल पिछले 15 दिनों में पांचवीं बार पानी में डूब गया। 

पारसडोह जलाशय के चार गेट खोले

मुलताई तहसील के पारसडोह जलाशय में लगातार जल स्तर बढ़ने के कारण शनिवार सुबह चार गेट खोल दिए गए। इससे ताप्ती नदी भी उफान पर चल रही है। 

सापना जलाशय फुल टैंक लेवल

बैतूलबाजार के समीप सोहागपुर में स्थित मध्यम सिंचाई योजना के प्रमुख सापना जलाशय में भी शनिवार की सुबह से हो रही तेज वर्षा के कारण पानी की भरपूर आवक हो रही है। 14.3 एमसीएम क्षमता का यह जलाशय दोपहर दो बजे छलक उठा। इसके दोनों वेस्ट वेयर से करीब एक फीट तक पानी बहने लगा। इससे सापना से सोहागपुर जाने वाले मार्ग के पुल पर पानी आ गया और आवाजाही करीब दो घंटे तक बंद रही। शाम को रिमझिम वर्षा होने से पानी की आवक कम हो गई।

भोपाल -नागपुर नेशनल हाइवे बंद

वर्षा के कारण अंभोरा नदी में बाढ़ आने से मुलताई, आठनेर मार्ग बंद हो गया। नदी के दोनों और वाहनों की लंबी कतार लगी रही। एहतियात के तौर पर मौके पर पुलिसकर्मी भी मौजूद थे, ताकि कोई भी बाढ़ के पानी को पार करते हुए नहीं निकले। अंभोरा नदी में ऊंची पुलिया नहीं होने के कारण बाढ़ के कारण हमेशा यातायात बाधित हो जाता है।