CM Sir, आप ही हमारी आखिरी आशा हैं, MPPSC परीक्षाएं चुनाव बाद कराएं- Khula Khat

माननीय मुख्यमंत्री महोदय
, मध्य प्रदेश शासन। उपरोक्त विषय में लेख है कि अत्यंत दुखी मन से आपको बताने जा रहा हूं कि पिछले 4 सालों से मैं इस परीक्षा की तैयारी कर रहा हूं। इस परीक्षा के लिए मैंने बहुत मेहनत की। कई सालों से और मैं सोया तक नहीं। महोदय ऐसे में परीक्षा चुनाव के समय में कराई जा रही है। 

महोदय, मैं मध्यप्रदेश शासन में पूरी ईमानदारी से अपने कर्तव्य को निभा रहा हूं। शासकीय सेवक होने के नाते मैं अपनी जिम्मेदारी तथा अपनी में पढ़ाई में तालमेल बनाया जा रहा हूं। महोदय, आपसे निवेदन है मेरी तरह हजारों शासकीय सेवक के मध्य प्रदेश शासन के अंतर्गत कार्यरत हैं। उनके साथ इस प्रकार का अन्याय ना होने दें। महोदय, परीक्षाएं चुनाव पश्चात कराए जाएं क्योंकि एक अतिरिक्त दबाव जो है हमारे ऊपर है किस प्रकार से चुनाव ड्यूटी के चुनाव के साथ-साथ रिवीजन किया जाए। महोदय, किसी भी परीक्षा में अंतिम दिन बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। वह महत्वपूर्ण दिन हमें प्रदान नहीं हो रहे हैं। 

महोदय, आपसे विनम्र निवेदन है कि हमारी वेदना को समझो कि किस प्रकार से हम परेशान हैं। इसलिए महोदय राज्य सेवा परीक्षा हो या राज्य अभियांत्रिकी सेवा एवं अन्य परीक्षाएं, चुनाव के पश्चात संपन्न कराई जाएं। आपका बहुत आभार रहे। महोदय पहले यह परीक्षा नियत समय में होना थी किंतु अन्य राज्यों के उम्मीदवारों द्वारा अपील करके इसको चुनावों के बीच में ला खड़ा कर दिया गया है। इससे हमारे मध्य प्रदेश के कर्मचारियों के साथ बहुत ही अन्याय हो रहा है। क्योंकि अन्य राज्य के अभ्यार्थियों द्वारा तैयारी से अच्छे मार्क्स लाए जा सकते हैं। ऐसे में जो शासकीय सेवक पूरी निष्ठा से शासकीय कार्य कर रहे हैं उनकी दो-तीन साल की मेहनत खराब हो जाएगी। 

महोदय अत्यंत गंभीर विषय है एवं मुझे दुख हो रहा है कि इस संदर्भ में अभी तक कोई भी निर्णय नहीं लिया गया है। महोदय आप ही हमारी अंतिम आशा है। कृपया करके परीक्षा को चुनाव के पश्चात कराए जाने का निर्णय लें। आपका समस्त शासकीय सेवक आभारी रहेगा। आपको सादर नमन।

अस्वीकरण: खुला-खत एक ओपन प्लेटफार्म है। यहां मध्य प्रदेश के सभी जागरूक नागरिक सरकारी नीतियों की समीक्षा करते हैं। सुझाव देते हैं एवं समस्याओं की जानकारी देते हैं। पत्र लेखक के विचार उसके निजी होते हैं। इससे पूर्व प्रकाशित हुए खुले खत पढ़ने के लिए कृपया Khula Khat पर क्लिक करें. यदि आपके पास भी है कुछ ऐसा जो मध्य प्रदेश के हित में हो, तो कृपया लिख भेजिए हमारा ई-पता है:- editorbhopalsamachar@gmail.com