MP College admission- सबसे अच्छे कॉलेज में एडमिशन चाहिए तो ध्यान से पढ़िए

भोपाल।
यदि आप कॉलेज में एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन करने वाले हैं। बीकॉम, बीए, बीएससी, बीबीए और बीसीए जैसे यूजी काेर्स और उनके स्पेशलाइजेशन तथा एमकॉम, एमए और एमएससी जैसे पीजी काेर्स व उनके स्पेशलाइजेशन में एडमिशन लेना चाहते हैं, तो इस खबर को ध्यान से पढ़िए। यह खबर आपको अपना पसंदीदा कॉलेज दिलाने में मदद करेगी।

सबसे अच्छे कॉलेज में एडमिशन के लिए कितना संघर्ष

हर स्टूडेंट चाहता है कि उसे उसके पसंद वाले कॉलेज में एडमिशन मिल जाए। इसी मनोकामना के साथ रजिस्ट्रेशन किया जाता है और काउंसलिंग में भाग लिया जाता है लेकिन हर साल 50% से ज्यादा विद्यार्थियों को अपने पसंद के कॉलेज में एडमिशन नहीं मिलता। प्रतिष्ठित कॉलेजों की सीटें पलक झपकते ही भर जाती हैं और जो स्टूडेंट थोड़ा सा भी सोचने का समय लेते हैं उनके हाथ से कॉलेज निकल जाता है।

नंबर वन कॉलेज में एडमिशन के लिए क्या करना पड़ेगा

इस साल एडमिशन की प्रक्रिया बदल गई है। पुराने कई नियम बदल दिए गए हैं। अब पिछले साल की तरह काउंसलिंग के दौरान मारामारी नहीं होगी। फटाफट डिसीजन नहीं लेना पड़ेगा। और डिसीजन की गड़बड़ी के कारण कोई कॉलेज नहीं छूटेगा। यदि किसी कॉलेज की सीट फुल हो गई तो सेकंड लेवल की काउंसलिंग का इंतजार नहीं करना पड़ेगा क्योंकि अपग्रेडेशन का विकल्प शुरू हो गया है। रजिस्ट्रेशन के समय विद्यार्थी अपने पसंद के 3 को और कोर्स चुन सकता है।

जैसे ही कोई कॉलेज अलॉट हो, उसमें ₹1000 फीस जमा कर दो और अलॉटमेंट के समय अपग्रेडेशन के विकल्प हो OK कर दो। जैसे ही पहली काउंसलिंग की फीस जमा करने की अंतिम तारीख खत्म हाेगी, सीट खाली रह जाने की स्थिति में छात्र काे ऑटोमैटिक उसकी पहली, दूसरी या तीसरी चॉइस का कॉलेज व काेर्स अलॉट हाे जाएगा। फीस भी संबंधित कॉलेज खुद ट्रांसफर कर देगा। उच्च शिक्षा, सरकारी और प्राइवेट नौकरी एवं करियर से जुड़ी खबरों और अपडेट के लिए कृपया MP Career News पर क्लिक करें.