JABALPUR NEWS - शेयर ब्रोकर की गला रेत कर हत्या, लार्डगंज की घटना

जबलपुर।
 मध्यप्रदेश के जबलपुर शहर में में शेयर ब्रोकर की घर में घुस कर बेरहमी से हत्या कर दी गई। हत्यारे ने उसका गर्दन रेतने के बाद सीने, पेट में चाकू से 8 से 10 वार किए हैं। आरोपी उसका सोने का चेन व मोबाइल भी लूट ले गए। वारदात रविवार रात की बताई जा रही है। लार्डगंज पुलिस को सोमवार शाम करीब 7 बजे के लगभग पड़ोसियों से हत्या की सूचना मिली।

लार्डगंज टीआई प्रफुल्ल श्रीवास्तव के मुताबिक श्रीनाथ की तलैया के सामने गंजीपुरा निवासी 44 वर्षीय जयदीप राठौर शेयर ब्रोकर और गोल्ड एक्सचेंज में पैसे लगाने का काम करता था। उसकी मां ओमवती बाई शनिवार को प्रयागराज एक शादी समारोह में शामिल होने गई थी। जयदीप शादीशुदा था, लेकिन पत्नी वैशाली अपने 14 वर्षीय बेटा आराध्य के साथ पिछले 12 सालों से मायके छिंदवाड़ा में रह रही है। बताया जाता है कि पति पत्नी में अच्छे संबंध नहीं थे। उसका बड़ा भाई अभयदीप परिवार सहित अधारताल में रहता है। घर में अकेला जयदीप ही था।

सोमवार शाम 7 बजे के लगभग पड़ोसियों से पुलिस को हत्या की सूचना मिली। घटनास्थल पर पहुंची पुलिस को चचेरे भाई अजय विश्वकर्मा ने बताया कि शाम करीब 4.30 बजे के लगभग जयदीप के घर का दरवाजा खुला देख उसने आवाज दी। जवाब नहीं मिलने पर वह ऊपर देखने पहुंचा तो कूलर, एक्जास फैन और टीवी चालू थी। फर्श पर जयदीप का रक्तरंजित शव पड़ा था। इसके बाद उसने थाने में सूचना दी।

जयदीप के गर्दन, सीने और पेट पर करीब 8 से 10 चाकू जैसे धारदार हथियार से वार करने के घाव थे। हत्या की खबर मिलते ही मौके पर एफएसएल टीम सहित एएसपी गोपाल खांडेल, सीएसपी कोतवाली दीपक मिश्रा, टीआई लार्डगंज, टीआई ओमती एसपीएस बघेल, टीआई कोतवाली अनिल गुप्ता और मदनमहल थाने का बल पहुंच गया।

एएसपी गोपाल खांडेल ने मामले के खुलासे के लिए क्राइम ब्रांच और साइबर टीम को भी लगाया है। पुलिस आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज खंगालने में जुटी है। फिलहाल पुलिस की सारी उम्मीदें जयदीप के गायब मोबाइल और सीडीआर पर टिकी है। पुलिस ने आसपास रह रहे लोगों के भी बयान लिए, लेकिन ऐसा कुछ नहीं मिला, जो हत्यारे तक पुलिस को पहुंचा सके। जयदीप रसिक मिजाज का था, इसी एंगल पर और शेयर में निवेश के विवाद वाले पहलू पर पुलिस की जांच चल रही है।

प्रयागराज गई उसकी मां ओमवती ने पुलिस को मोबाइल पर बताया है कि जयदीप गले में सोने की मोटी चेन पहने था और महंगा मोबाईल रखता था लेकिन पुलिस को मौके पर चेन-मोबाइल नहीं मिली। पुलिस को संदेह है कि जयदीप के मोबाईल में ऐसा कुछ था जो हत्यारा किसी के सामने नहीं आने देना चाह रहा था। जयदीप की मां ओमवती प्रयागराज से जबलपुर देर रात पहुंची। उनके बयान के आधार पर पुलिस प्रकरण में आज लूट की धारा बढ़ाएगी।