दुनिया में अब तक कुल कितनी किताबें प्रिंट हुई हैं, पढ़िए बेहद रोचक जानकारी- GK in Hindi

किताबों की दुनिया अपने आप में बहुत बड़ी है। मजेदार बात यह है कि हाई स्पीड इंटरनेट के जमाने में किताबों का क्रेज बढ़ता चला जा रहा है। बुक लवर्स के लिए बड़े शहरों में नियमित रूप से बुक फेयर ऑर्गेनाइज किए जा रहे हैं। आइए आज किताबों की दुनिया में घूम कर आते हैं:- 

बिल्कुल परफेक्ट नंबर नहीं है लेकिन दुनिया के सबसे लोकप्रिय सर्च इंजन गूगल में लगभग 13 करोड़ किताबों का जिक्र किया गया है। यदि हम एक किताब की मात्र 100 प्रिंट कॉपी मान लेते हैं तो 800 करोड़ों की आबादी वाली इस दुनिया में 1300 करोड़ किताबें मौजूद हैं। हर इंसान के लिए लगभग 2 किताबें। 

किताबों के बारे में रोचक जानकारियां 

- इस बात का कोई रिकॉर्ड नहीं है कि हाथ से कुल कितनी किताबें लिखी गई और उनमें से कितने प्रिंट एडिशन मौजूद है। 
- दुनिया में हाथ से पहली किताब कौनसी लिखी गई थी इस बात को लेकर इतिहासकारों के अलग-अलग दावे हैं। 
- लेकिन दुनिया की पहली प्रिंटेड बुक सन 1455 में पब्लिश की गई थी। गुटेनबर्ग ने लैटिन भाषा में बाइबल का प्रकाशन किया था। 
- गुटेनबर्ग बाइबिल की कीमत 5.4 मिलियन डॉलर है और यह दुनिया की सबसे महंगी किताब है। 
- दुनिया की सबसे ज्यादा लोकप्रिय किताब द बर्ड्स ऑफ अमेरिका है। 
- कोडेक्स गिगास नाम की किताब को दुनिया की सबसे खतरनाक किताब माना जाता है। 
- साइज में दुनिया की सबसे बड़ी किताब 4.18 मीटर लंबी और 3.77 मीटर चौड़ी है। इस किताब में 346 पेज हैं और - इसका वजन 1420 किलोग्राम है। इस किताब का नाम सिनपेत्री है जो हंगरी का एक छोटा सा गांव भी है। 
- भारत के प्राचीन इतिहास के अनुसार ऋग्वेद दुनिया की पहली किताब है। Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article 
(इसी प्रकार की मजेदार जानकारियों के लिए जनरल नॉलेज पर क्लिक करें) 
:- यदि आपके पास भी हैं कोई मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com
(general knowledge in hindi, gk question answer in hindi, general knowledge questions in hindi, gktoday in hindi, general awareness in hindi)