DAVV NEWS- यूजी के बाद पीएचडी में एडमिशन के नियम बदल रहे हैं

इंदौर।
Devi Ahilya Vishwavidyalaya, Indore द्वारा यूजी कोर्स में एडमिशन के लिए CUET-2022 (Common University Entrance Test) के बाद अब पीएचडी में एडमिशन के लिए नियमों में संशोधन किया जा रहा है।

MP Phd admission new rules

देवी अहिल्या विश्वविद्यालय से पीएचडी करने के लिए अब तक DET (Doctoral Entrance Test) पास करना पड़ता था। बताया जा रहा है कि अब इसके साथ NET इसको भी मान्य किया जाएगा। अक्टूबर 2021 में यूजीसी ने देशभर के विश्वविद्यालयों को पत्र भेजा था, जिसमें डीईटी के अलावा नेट स्कोर कार्ड के माध्यम से पीएचडी में प्रवेश देने का विकल्प रखा। यूजीसी ने प्रक्रिया को अपनाने का फैसला विश्वविद्यालयों पर छोड़ दिया था। 

MP College news- DAVV में NET स्कोरकार्ड को मंजूरी

सूत्रों के मुताबिक देवी अहिल्या विश्वविद्यालय संचालक मंडल ने प्रवेश परीक्षा पर खर्च कम करने और प्रक्रिया आसान बनाने पर जोर दीया है। कहा जा रहा है कि NET स्कोरकार्ड से एडमिशन के कारण पीएचडी की गुणवत्ता का स्तर भी बढ़ेगा। अधिकारियों के मुताबिक डीईटी के माध्यम से विश्वविद्यालय को सिर्फ प्रदेश स्तर के योग्य उम्मीदवार मिलते है। जबकि नेट जैसी राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा से अच्छे उम्मीदवारों मिल सकते है।

बीते दिनों कुलपति डा. रेणु जैन-डीईटी प्रभारी डा. अभय कुमार सहित विभागाध्यक्षों के बीच चर्चा हुई है। जहां विश्वविद्यालय ने नेट स्कोर से पीएचडी में दाखिला देने पर सैद्धांतिक सहमति दे दी है। सूत्रों के मुताबिक डीएवीवी की डीईटी समिति भी अगले कुछ सप्ताह में प्रवेश को लेकर एक प्रस्ताव बना रहे है। इसे कार्यपरिषद में रखा जाएगा। 

DAVV Phd Admission- नियमों में संशोधन की आधिकारिक पुष्टि

डा. रजनीश जैन, सचिव, यूजीसी ने कहा कि अभी डीईटी को खत्म नहीं किया गया है। मगर पीएचडी में प्रवेश प्रक्रिया से जुड़े नियमों में संशोधन चल रहा है। नेट परीक्षा में शामिल उम्मीदवारों को देशभर के विश्वविद्यालय में पीएचडी करने का मौका मिलेगा। इसे शोध की गुणवत्ता भी बढ़ेगी। सीयूईटी की तरह अब यूजीसी पीएचडी में प्रवेश की प्रक्रिया भी केंद्रीय स्तर पर बनेगी।

पीएचडी के स्टूडेंट्स को NET जरूर देना चाहिए

डीईटी प्रभारी डा. अभय कुमार ने कहा कि पीएचडी में प्रवेश प्रक्रिया को लेकर अगले कुछ महीनों में स्थिति स्पष्ट होगी। वैसे पीएचडी करने वालों को नेट की परीक्षा देने पर विचार करना चाहिए। वैसे शिक्षण क्षेत्र में आने वाले और पीएचडी करने वाले उम्मीदवारों को जून में होने वाली नेट में जरूर आवेदन करना चाहिए। उच्च शिक्षा, सरकारी और प्राइवेट नौकरी एवं करियर से जुड़ी खबरों और अपडेट के लिए कृपया MP Career News पर क्लिक करें.