सरकार नौकरी दे देती तो हमें ठगी नहीं करनी पड़ती, क्रिमिनल ने पीड़ित से कहा- GWALIOR NEWS

ग्वालियर।
युवाओं को रोजगार के मामले में सीएम शिवराज सिंह चौहान भले ही कितने भी अच्छे भाषण दें परंतु हकीकत यह है कि टैलेंटेड युवा या तो डिप्रेशन का शिकार हो रहे हैं या फिर रोजी रोटी के लिए क्राइम करने लगे हैं। साइबर ठगी कर रहे एक युवक ने जाल में फंसने से बच गए व्यक्ति को खुलकर बताया कि यदि सरकार नौकरी दे दे तो हमें यह सब नहीं करना पड़ता।

ग्वालियर के रविंद्र सिंह के पास एक फोन कॉल आया। कॉल करने वाले ने बताया कि Phonepe मोबाइल एप्लीकेशन का नियमित यूज करने के कारण उन्हें ₹4998 का बोनस मिला है। उनके Phonepe मोबाइल एप्लीकेशन पर एक लिंक भेजी गई है। क्लिक करेंगे तो बोनस आपके खाते में जमा हो जाएगा। रविंद्र सिंह ने देखा तो वह पेमेंट लिंक थी। रविंद्र सिंह समझ गए। उन्होंने कॉल करने वाले से पूछा कि गरीबों को इस कदर क्यों लूटते हो। 

ठगी करने वाला भावुक हो गया। उसने बताया कि यदि मध्यप्रदेश में सरकारी नौकरी के अवसर मिलते तो हमें यह सब कुछ नहीं करना पड़ता। उसने यह भी बताया कि हम लोगों का पूरा अकाउंट खाली नहीं करते। ज्यादातर ₹5000 निकालते हैं और कभी ज्यादा जरूरत हुई तो ₹10000 निकाल लेते हैं। छोटा अमाउंट होने के कारण लोग शिकायत भी नहीं करते।

कहानी का लव्वोलुआब यह है कि उच्च शिक्षित और योग्य युवा बेरोजगारी के कारण अपराधी बनते जा रहे हैं। बेरोजगारी के कारण डिप्रेशन और आत्महत्या के मामले भी बढ़ रहे हैं। शिवराज सिंह चौहान सरकार के लिए निश्चित रूप से यह चिंता का विषय है। अपने भाषणों में अच्छी-अच्छी बातें करने के बजाए जरूरी हो गया है कि रिक्त पदों की गिनती करके भर्ती प्रक्रिया शुरू की जाए। 

शिवपुरी में घर के बर्तन, पत्नी के लिए साड़ी और बच्चे के लिए कपड़े चुराए 

इसी सप्ताह ग्वालियर संभाग के शिवपुरी शहर में किसी बेरोजगार और गरीब व्यक्ति ने दो दुकानों के ताले तोड़कर घर में उपयोग आने वाले बर्तन, पत्नी के लिए साड़ियां और बच्चे के लिए कपड़े चोरी कर लिए हैं। दुकानदारों ने मामले दर्ज करा दिए हैं। पुलिस गरीबी के कारण अपराधी बने व्यक्ति को तलाश रही है। ग्वालियर की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया GWALIOR NEWS पर क्लिक करें.