MP NEWS- पेंशनर जिंदा है या नहीं, पोस्टमैन बताएगा

भोपाल।
मध्यप्रदेश में बीमार एवं अधिक आयु के रिटायर्ड कर्मचारियों को और परिवार पेंशन के हितग्राहियों को सुविधा की दृष्टि से डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र की व्यवस्था लागू कर दी गई है। अब डाक विभाग से पोस्टमैन बायोमेट्रिक डिवाइस लेकर आएगा और पेंशनर के घर पर ही डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र की सभी प्रक्रिया पूरी करके जीवन प्रमाण पोर्टल पर अपडेट कर देगा।

बुजुर्गों को सेवा केंद्र या ऑनलाइन कियोस्क तक जाने में परेशानी होती थी

अस्वस्थ एवं अति वरिष्ठ पेंशनरों और परिवार पेंशनरों को डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र तैयार करने और प्रस्तुत करने के लिये नियत केंद्र या कियोस्क तक पहुँचने में असुविधा का सामना करना पड़ रहा था। इसे ध्यान में रखते हुए राज्य शासन के पेंशनर और परिवार पेंशनरों के लिये कार्मिक लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय भारत सरकार के निर्देश अनुरूप इंडियन पोस्ट पेमेंट बैंक द्वारा डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र जमा करने के लिये डोर स्टेप सर्विस सेवा अतिरिक्त विकल्प के रूप में सशुल्क प्रारंभ करने का निर्णय लिया है।

पोस्टमैन क्या-क्या जानकारी मांग सकता है

वैकल्पिक व्यवस्था में जीवन प्रमाण-पत्र, पोर्टल के साथ इंडियन पोस्ट पेमेंट बैंक या पोस्ट ऑफिस से संपर्क कर नियत शुल्क जमा कर प्राप्त किया जा सकेगा। पेंशनर और परिवार पेंशनर को मूलभूत जानकारी जैसे पेंशन आईडी, पेंशन पेमेंट ऑर्डर, पेंशन वितरण विभाग, संस्था, बैंक वितरण, मोबाइल नंबर, आधार नंबर आदि जानकारी पोस्टमैन को उपलब्ध करानी होगी। मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया mp news पर क्लिक करें.