BHOPAL NEWS- अफसरों ने फ्लैट में शिफ्ट होने से इनकार किया, बंगलों में ही रहेंगे

भोपाल।
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में पिछले 15 सालों में विकास के नाम पर हजारों पुराने पेड़ काटे जा चुके हैं परंतु जब नौकरशाहों की कॉलोनी को बदलने की बात आई तो पर्यावरण के नाम पर प्रोजेक्ट को रिजेक्ट कर दिया गया। 

मामला चार इमली क्षेत्र का है। मध्य प्रदेश हाउसिंग बोर्ड ने इस इलाके के लिए रिडेंसिफिकेशन प्रोजेक्ट तैयार किया था। प्लानिंग यह थी कि अफसरों को अलॉट किए गए बंगलो को तोड़कर मल्टी स्टोरी बिल्डिंग बनाई जाएगी। इसके बड़े और लग्जरी फ्लैट अफसरों को अलॉट कर दिए जाएंगे। इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि ज्यादा से ज्यादा वीआईपी लोगों को आवास आवंटित किए जा सकेंगे और सुरक्षा भी आसान हो जाएगी। 

यह प्रोजेक्ट फाइनल अप्रूवल के लिए साधिकार समिति के पास भेजा गया था। मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस की अध्यक्षता में अधिकार समिति की बैठक का आयोजन हुआ। इस मीटिंग में चार इमली के रिडेंसिफिकेशन प्रोजेक्ट को रिजेक्ट कर दिया गया। बताया गया कि चार इमली क्षेत्र काफी हरा भरा है और इस प्रोजेक्ट के कारण पर्यावरण को काफी नुकसान होगा। भोपाल की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया bhopal news पर क्लिक करें.