INDORE CM RISE स्कूल विवाद, प्रिंसिपल सस्पेंड, 21 शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई

इंदौर
। सीएम राइज स्कूल विवाद के दौरान भाजपा की महिला विधायक मालिनी गौड़ के प्रस्ताव का विरोध करना नवीन मालव कन्या सरकारी हायर सेकंडरी स्कूल की प्रिंसिपल एवं सभी शिक्षकों को महंगा पड़ गया। प्रिंसिपल को सस्पेंड कर दिया गया और 21 शिक्षकों के खिलाफ कार्यवाही की गई है। 

INDORE CM RISE स्कूल विवाद क्या है

मुख्यमंत्री की महत्वकांक्षी योजना सीएम राइज स्कूल के लिए इंदौर में मालव कन्या स्कूल का चुनाव किया गया था। सूत्रों का कहना है कि स्कूल के स्टाफ में भाजपा की महिला विधायक मालिनी गौर से संपर्क किया और स्कूल को सीएम राइज स्कूल की लिस्ट से हटाने की मांग की। मालिनी गौड़ ने मुख्यमंत्री को इसके बारे में पत्र लिखा। और सुझाव दिया कि कन्या विद्यालय की जगह नवीन कन्या विद्यालय को शामिल किया जाए। यह पता लगते ही नवीन कन्या विद्यालय की प्रिंसिपल एवं सभी स्टाफ ने सीधे मुख्यमंत्री को पत्र लिख दिया। उसकी एक कॉपी स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री को भी भेज दी। इसी के कारण सब के खिलाफ कार्रवाई हो गई। 

क्या गलती की थी, कार्रवाई क्यों हुई

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भेजे गए पत्र पर प्रिंसिपल कमला गांधी, लेक्चरर डॉ. बीएम शर्मा, पांच वरिष्ठ महिला शिक्षकों सहित स्टाफ के 22 लोगों के दस्तखत थे। आयुक्त लोक शिक्षण संचालनालय ने प्रिंसिपल को सस्पेंड कर दिया और शेष सभी का इंक्रीमेंट रोक दिया गया। दलील दी गई कि सभी ने अनुशासनहीनता की है। मुख्यमंत्री को सीधे पत्र नहीं लिखा जाना चाहिए था। मध्यप्रदेश कर्मचारियों से संबंधित महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया MP karmchari news पर क्लिक करें.