कमलनाथ को छोड़, दिग्विजय सिंह और उनके समर्थकों पर FIR दर्ज - MP NEWS

मध्य प्रदेश की राजनीति में कुछ ऐसे किस्से घटित हो रहे हैं कि वर्षों तक सुनाए जाएंगे। दिनांक 21 जनवरी 2022 को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष एवं नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ सहित सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ता सीएम हाउस के रास्ते में धरने पर बैठे थे। पुलिस ने दिग्विजय सिंह और उनके समर्थकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया लेकिन कमलनाथ को नामजद नहीं किया है। 

धरना तो दोनों ने दिया था, मामला एक के खिलाफ दर्ज हुआ

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह अपनी घोषणा के अनुसार दिनांक 21 जनवरी 2022 को सीएम हाउस के सामने धरना देने के लिए जा रहे थे कि तभी रास्ते में पुलिस ने बैरिकेड लगाकर उन्हें रोक लिया। दिग्विजय सिंह वहीं पर धरने पर बैठ गए। इस दौरान कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ भी आ गए। वह भी धरने पर बैठे रहे। 4 घंटे धरना चलने के बाद मुख्यमंत्री के कार्यालय से आश्वासन मिला और धरना समाप्त हो गया लेकिन श्यामला हिल्स पुलिस थाने में दिग्विजय सिंह और उनके समर्थकों के खिलाफ आईपीसी की धारा धारा 353 और 188 के तहत FIR दर्ज कर ली गई है। चर्चा का बिंदु यह है कि धरने में शामिल कमलनाथ का नाम FIR में नहीं है। 

कमलनाथ तो गेस्ट सेलिब्रिटी थे 

इस मामले में जब पुलिस अधिकारियों से चर्चा की गई तो किसी ने भी ऑफिशल स्टेटमेंट देने से मना कर दिया। अनऑफिशियल बातचीत में एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि धरना पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने दिया है। उनके समर्थक उनके घर से उनके साथ आए थे। कमलनाथ तो इस धरना कार्यक्रम में गेस्ट सेलिब्रिटी थे। थोड़ी देर के लिए आए थे इसलिए मामला दर्ज नहीं किया। मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया mp news पर क्लिक करें