CORONA से बचना है तो दौड़ लगाओ: सर्जन्स के सेमिनार का निष्कर्ष

जो लोग मोटापे का शिकार हैं, जिन लोगों के शरीर में चर्बी अधिक है, जिनका कोलेस्ट्रॉल बढ़ गया है और जिन लोगों का वजन उनके सामान्य औसत से अधिक है, ऐसे सभी लोग आसानी से कोरोनावायरस का शिकार हो सकते हैं। संक्रमण के कारण ऐसे लोगों की स्थिति गंभीर हो जाती है। यह निष्कर्ष एसोसिएशन आफ सर्जन्स के सेमिनार में निकल कर सामने आया है।

एसोसिएशन आफ सर्जन्स आफ इंदौर द्वारा सर्जरी के माध्यम से मोटापा कम करने के विषय पर सेमिनार का आयोजन किया गया था। सेमिनार की अध्यक्षता डा अरुण मिश्रा, डा. सीपी कोठारी और डा. विजय निचानी ने की। सेमिनार में विशेषज्ञों ने बताया कि मोटापे से पीड़ित लोग आसानी से कोरोनावायरस का शिकार बन रहे हैं। ऐसे लोगों को संक्रमण में से बचाना एक बड़ी चुनौती है। 

सेमिनार में बताया गया कि गैस्ट्रिक बैलून एवं गैस्ट्रिक पिल, बैरियाट्रिक सर्जरी का विकल्प नहीं है। गैस्ट्रिक बैलून एवं गैस्ट्रिक पिल की मदद से कुछ समय के लिए औसत 10 किलो वजन कम किया जा सकता है लेकिन वजन फिर से बढ़ जाता है। डॉक्टरों का कहना है कि नियमित व्यायाम ही एकमात्र प्रक्रिया है जिसके कारण मोटापा, एक्स्ट्रा कोलेस्ट्रॉल, औसत से अधिक वजन और कई तरह की परेशानियों से बचा जा सकता है। स्वास्थ्य से संबंधित समाचार एवं जानकारियों के लिए कृपया Health Update पर क्लिक करें



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here