JABALPUR पढ़ने आई शिक्षक की बेटी बलात्कार का शिकार

जबलपुर।
मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर में पदस्थ एक शासकीय शिक्षक की बेटी जबलपुर में बलात्कार का शिकार हो गई। वह पढ़ाई करने के लिए जबलपुर आई थी। बदमाश ने उसे अकेला पाकर मौके का फायदा उठाया। पिता की बदनामी के डर से लड़की चुप रही। खुलासा तब हुआ जब उसके पेट में दर्द होने लगा और अस्पताल में उसकी जांच हुई।

कुंडम पुलिस ने बताया कि कक्षा 11 में पढ़ने वाली 17 साल की छात्रा की मां का निधन हो चुका है। पिता नरसिंहपुर जिले में प्रतिष्ठित शिक्षक हैं। बेटी की अच्छी शिक्षा के लिए उन्होंने उसे जबलपुर में नानी के घर भेज दिया था। नानी भी शिक्षक हैं और उनकी अपनी प्रतिष्ठा है। परिवार की प्रतिष्ठा के कारण स्वतंत्रता मिलने के बाद भी लड़की ने कभी उसका फायदा नहीं उठाया।

पुलिस ने बताया कि नानी के घर में रोहित उइके के नाम का एक लड़का किराए पर रहता था। उसने पहले सामान्य बातचीत करना शुरू किया और फिर प्रपोज करने लगा। लड़की ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि रोहित ने कई बार उसे प्रपोज किया और हर बात उसने रोहित को मना कर दिया। बाद में रोहित चला गया और उसकी जगह उसकी बहन प्रियंका मार्को रहने आ गई। जून 2021 में प्रियंका ने एक पार्टी रखी। पार्टी छत पर थी। वही खाना बन रहा था। वह किसी काम से प्रियंका के रूप में आई। तभी पीछे से रोहित आ गया। उसने मुंह दबाकर उसके कपड़े फाड़ दिए। फिर उसके साथ संबंध बनाए। पिता और नानी की बदनामी के डर से लड़की चुप रही।

घटना के 6 महीने बाद लड़की की तबीयत खराब होने लगी। डॉक्टर को दिखाने पर, डॉक्टर ने गर्भवती होने का संदेह जताया। नानी ने जब विश्वास में लेकर पूछा तो उसने सब बात बता दी। जांच करने पर पता चला कि वह 6 महीने से गर्भवती है। अस्पताल की सूचना पर गढ़ा पुलिस बयान दर्ज करने पहुंची थी। गढ़ा पुलिस की जीरो पर दर्ज केस डायरी कुंडम पहुंची। पुलिस मामले में 21 दिसंबर को रेप, धमकी व पॉक्सो एक्ट का प्रकरण दर्ज किया।जबलपुर की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया jabalpur news पर क्लिक करें.


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here