डंक मारने वाली मधुमक्खी को पाला क्यों जाता है, मार क्यों नहीं दिया जाता- GK in Hindi

आप किसी से भी पूछिए मधुमक्खी क्या करती है, जवाब मिलेगा मधुमक्खियां शहद बनाती हैं। खेत और बाग बगीचों में लगे फूलों से परागकण की चोरी करती है और अपने लिए शहद जमा कर लेती है, लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि यदि ऐसा ही है तो फिर डंक मारने वाली मधुमक्खी को पाला क्यों जाता है, मार क्यों नहीं दिया जाता। आइए इसी सवाल का जवाब पता करते हैं:-

भगवान ने मधुमक्खी को क्यों बनाया, प्रकृति में किस काम आती है

इंपीरियल कृषि अनुसंधान संस्थान में काम करने वाले वैज्ञानिक सीसी घोष ने लंबी स्टडी के बाद बताया कि मधुमक्खी हम मनुष्यों को एक रुपए की शहद व मोम देती है तो दस रुपए की कीमत के बराबर कृषि उत्पादन बढ़ा देती है। Indian Agricultural Research Institute: ICAR में किए गए परीक्षण के बाद जो परिणाम सामने आए वह चौंकाने वाले थे। सौंफ के जिन फूलों का मधुमक्खी द्वारा परागीकरण किया गया उनमें 85% बीज बन गए जबकि जिन फूलों को मधुमक्खियों से दूर रखा गया उनमें से मात्र 6.1% ही बीज बन पाए। ऐसा सभी प्रकार की फसलों के साथ हुआ।

मधुमक्खी का खेती में क्या फायदा होता है

यानी मधुमक्खी शहद और मोम बनाने के लिए पैदा नहीं हुई बल्कि वह बीजों का उत्पादन करने के लिए पैदा हुई है। यदि मधुमक्खी नहीं होगी तो बीजों का उत्पादन कम हो जाएगा। ऐसा होने पर फसलों का उत्पादन कम हो जाएगा और 1 दिन फसल पैदा करने के लिए बीज बचेगा ही नहीं। 

मधुमक्खी, मनुष्यों के लिए शहद क्यों बनाती है

कुल मिलाकर डंक मारने वाली मधुमक्खी बड़े काम की चीज है। उसका जन्म मनुष्य हेतु शहद बनाने के लिए नहीं हुआ। फूलों से परागकण लाकर मधुमक्खी अपने लिए इमरजेंसी फूड तैयार करती है, जिसे शहद कहा जाता है। यह हमारे लिए नहीं होता बल्कि उसके लिए होता है। सर्दी के मौसम में मधुमक्खी शहद खाकर जिंदा रहती हैं। साल में ऐसे ही दो-तीन अवसर आते हैं जब मधुमक्खी को फूल नहीं मिलते। तब वह शहद पर ही निर्भर करती है।  (इसी प्रकार की मजेदार जानकारियों के लिए जनरल नॉलेज पर क्लिक करें) Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article (general knowledge in hindi, gk questions, gk questions in hindi, gk in hindi,  general knowledge questions with answers, gk questions for kids, ) :- यदि आपके पास भी हैं कोई मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com