साबुन के संपर्क में आते ही पीली हल्दी लाल क्यों हो जाती है, पढ़िए मजेदार जानकारी- GK in Hindi

What Contains  Turmeric That Turns into Red colur When Soap Is Applied

हल्दी को तो अपन सभी पहचानते ही हैं। रसोई घर में हल्दी पाउडर होता है। कभी चोट लग जाती है तो हल्दी वाला दूध पिलाया जाता है। माथे पर तिलक लगाने के लिए हल्दी का उपयोग किया जाता है। कई बार हल्दी हमारे कपड़ों पर लग जाती है। जैसे ही वह कपड़ा साबुन के संपर्क में आता है, पीली हल्दी अचानक लाल हो जाती है। सवाल यह है कि साबुन के संपर्क में आते ही हल्दी लाल क्यों हो जाती है। क्या साबुन से उसका कोई पुराना झगड़ा है और वह गुस्से से लाल हो जाती है। आइए पता लगाते हैं:-

हल्दी का वैज्ञानिक नाम Curcuma longa है जो कि एक आवृत्तबीजी कुल (Angiospermic family) जिंजरबेरेसी (Zingerberaceae) का सदस्य है, जिसका की खाया जाने वाला भाग जड़ या राइजोम (Root और Rhizome) कहलाता है। यानी हम हल्दी का फल नहीं खाते बल्कि हल्दी की जड़ खाते हैं। हल्दी एक नेचुरल एंटीबायोटिक और एंटीसेप्टिक है। यही कारण है कि चोट लगने पर हल्दी वाला दूध पिलाया जाता है और रसोई घर में खाने में हल्दी पाउडर मिलाया जाता है।

लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि हल्दी एक नेचुरल इंडिकेटर भी है। साइंस की लैब में अम्ल और क्षार (acids and bases) का पता लगाने के लिए लिटमस पेपर का उपयोग किया जाता है। इसका आविष्कार काफी बाद में हुआ लेकिन हल्दी हजारों साल पहले से यही काम करती आ रही है। हल्दी की मदद से क्षार का पता लगाया जा सकता है। क्षार के संपर्क में आते ही हल्दी का रंग बदल जाता है। वह पीले से लाल हो जाती है। क्योंकि साबुन में भी क्षार होता है इसलिए साबुन के संपर्क में आते ही हल्दी लाल हो जाती है। यह असली साबुन की जांच करने का अच्छा तरीका है। यदि हल्दी लाल नहीं हुई तो समझ लीजिए कि साबुन बनाने वाले ने दाल में कुछ काला डाल दिया है। (इसी प्रकार की मजेदार जानकारियों के लिए जनरल नॉलेज पर क्लिक करें) Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article (general knowledge in hindi, gk questions, gk questions in hindi, gk in hindi,  general knowledge questions with answers, gk questions for kids, ) :- यदि आपके पास भी हैं कोई मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here