स्वास्थ्य विभाग के सिर्फ 20% कर्मचारी नैतिक जिम्मेदारी निभाएं तो सिस्टम ठीक हो जाएगा: कलेक्टर ने कहा

भोपाल
। मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले की कलेक्टर श्री गौतम सिंह आईएएस ने बड़ी बात कही है। उनका कहना है कि स्वास्थ्य विभाग के सिर्फ 20% कर्मचारी भी नैतिक जिम्मेदारी का निर्वाह करने लगे तो पूरा सिस्टम ठीक हो जाएगा। उल्लेखनीय है कि सतना के बाद भोपाल के सरकारी अस्पताल में अग्नि कांड केवल इसलिए हुआ क्योंकि कर्मचारियों ने अपनी नैतिक जिम्मेदारी का निर्वाह नहीं किया। 

श्री गौतम सिंह जिला अस्पताल सभागृह से आज प्रात 11 बजे नवजात शिशु सप्ताह का शुभारंभ समारोह को संबोधित कर रहे थे। मंदसौर में नवजात शिशु सप्ताह 15 नवंबर से 21 नवंबर तक मनाया जाएगा। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इसे शुभारंभ करने का प्रमुख उद्देश्य शिशु सुरक्षा, उनकी गुणवत्ता एवं पोषण देखभाल पर विशेष तौर पर ध्यान देना है। जिससे शिशु मृत्यु दर कम से कम हो तथा शिशु स्वस्थ रहें। उन्होंने विशेष तौर पर कहा कि स्वास्थ्य विभाग में अगर 20% कर्मचारी भी नैतिक तरीके से अपना कर्तव्य समझकर कार्य करें तो भी सिस्टम में सुधार आ सकता है। 

इसके लिए कर्मचारियों को ही विशेष प्रयास करने चाहिए तथा अपनी नैतिकता समझकर कर्तव्य को महत्व देना चाहिए। शिशु कल्याण पर विशेष तौर पर कार्य करना चाहिए। सिर्फ दिखावे के लिए काम नहीं होना चाहिए, जबकि जमीनी स्तर पर कार्य करना चाहिए। कार्यों पर अगर ध्यान देंगे तो जागरूकता भी आएगी और लोगों में भी जागरूकता बड़ेगी। स्वास्थ्य में हम लोग बहुत पिछड़े हुए हैं। अगर अच्छे से कार्य किया जाए तो उसको सुधारा जा सकता है। 

कार्यक्रम के दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी श्री राठौर, प्रभारी सिविल सर्जन श्री पाटीदार, शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अरविंद वर्मा, डॉक्टर नकुम, आशा कार्यकर्ता, पत्रकार उपस्थित थे। मध्य प्रदेश के कर्मचारियों से संबंधित समाचारों के लिए कृपया Karmchari news MP पर क्लिक करें।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here