GWALIOR NEWS- सराफा दुकानदार मनी ट्रैप का शिकार- 26 लाख के बाद भी ब्लैकमेल कर रहे हैं

ग्वालियर
। जिस प्रकार हनी ट्रैप में कोई लड़की या लड़का आपको रंगीन सपने दिखाकर अपने जाल में फंसा लेते हैं ठीक उसी प्रकार मनी ट्रैप में रातो रात करोड़पति बनने का सपना दिखाकर जाल में फंसा लिया जाता है। ग्वालियर के सर्राफा व्यापारी कमल भारद्वाज ऐसे ही मनी ट्रैप गैंग की चंगुल में फंस गए हैं। पूरा पैसा बर्बाद हो गया और गैंग लगातार ब्लैकमेल कर रही है। कमल भारद्वाज ने अब एसपी ग्वालियर से मदद मांगी है।

सर्राफा बाजार में ज्वेलरी शॉप के संचालक कमल भारद्वाज, समाधिया कॉलोनी में रहते हैं। माधवगंज पुलिस थाने के सामने उनका एक होटल भी है। कमल भारद्वाज ने बताया कि उनके होटल में मयूर वर्मा नाम का एक युवक अक्सर आता-जाता था। उसी ने बताया कि मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) में गोल्ड का ऑनलाइन कारोबार करने से हर दिन ₹15000 तक आसानी से कमाए जा सकती है। बिना परिश्रम के पैसा कमाने का रास्ता मिलते ही कमल भारद्वाज तैयार हो गए।

उन्होंने MCX (मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज) में पैसा लगाना शुरू कर दिया। शुरुआत में कुछ फायदा भी हुआ जिससे उत्साहित हो गए और निवेश की रकम बढ़ा दी। फिर घाटा होना शुरू हो गया। सारा पैसा खत्म हो गया लेकिन मयूर का कहना था कि सिर्फ 1 दिन में सारा घाटा कबर हो जाएगा। मयूर वर्मा नहीं कुछ लोगों से ब्याज पर पैसा दिलवाया। 

2014 से 2015 के बीच 7 लोगों से उसने करीब 10 लाख रुपए का कर्ज ले लिया। इनमें से मदन नामक युवक से 4 लाख रुपए लिए थे। बदले में सिक्योरिटी के तौर पर अपने और अपने पिता के नाम के बैंक के चेक भी दिए थे। कर लेने के बाद भी जब मुनाफा नहीं हुआ तो कमोडिटी एक्सचेंज में कारोबार करना बंद कर दिया। लोग अपना पैसा वापस पाने के लिए दबाव बनाने लगे। कमल ने अपना घर और एक फोर व्हीलर बेचकर 1000000 रुपए के बदले 1600000 रुपए अदा कर दिए।

अब भी मांग रहे डबल रुपया, दे रहे मानसिक प्रताड़ना 

कमल भारद्वाज का कहना है कि तीन लोगों के पास उसने गारंटी के रूप में चेक दिए थे, जो कि अभी भी उनके पास हैं और वह उसे चेक के नाम पर ब्लैकमेल कर रहे हैं। कहते हैं कि बैंक में लगाकर बाउंस कराकर धोखाधड़ी का झूठा मामला दर्ज कराएंगे। उससे 10 लाख रुपए और मांग रहे हैं। इस दबाव के चलते कमल भारद्वाज घबराहट का शिकार हो गए हैं। उनका शुगर लेवल बढ़ने लगा है। उन्होंने एसपी ग्वालियर से मदद मांगी है। 


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here