EMPLOYEE NEWS- डेथ सर्टिफिकेट पर CORONA लिखने ICMR की गाइड लाइन जारी

नई दिल्ली।
मृत्यु प्रमाण पत्र पर मृत्यु का कारण COVID-19 लिखने के लिए ICMR की ओर से गाइडलाइन जारी कर दी गई। इससे पहले तक डेथ सर्टिफिकेट पर कोरोनावायरस नहीं लिखा जाता था। इस मामले को लेकर काफी हंगामा हुआ था। मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया था।

केंद्र की गाइडलाइन के अनुसार, जिन मरीजों का कोरोना टेस्ट RT-PCR, रैपिड-एंटीजन टेस्ट या मॉलिक्युलर टेस्ट के जरिए किया गया हो या किसी अस्पताल में इलाज करने वाले डॉक्टर की जांच में उसे कोरोना पॉजिटिव पाया गया हो। उसे ही कोरोना पॉजिटिव माना जाएगा।

कोरोना मौतों में शामिल नहीं होंगी ये मौतें

गाइडलाइन के अनुसार जिन मौतों को Covid​​-19 की मौत नहीं माना जाएगा, उनमें जहर, आत्महत्या, हत्या और दुर्घटना के कारण हुई मौतें शामिल हैं, भले ही मौत के बाद उनका कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया हो।

कोरोना मौतों में शामिल होंगी ये मौतें

गाइडलाइन के अनुसार, “COVID-19 के जो मामले हल नहीं हुए हैं और या तो अस्पताल की सेटिंग में या घर पर मरीज की मौत हुई है। इन मामलों में अगर पंजीकरण प्राधिकारी को फॉर्म 4 और 4 ए में मृत्यु के कारण का मेडिकल सर्टिफिकेट जारी किया गया है। जो कि जन्म और मृत्यु पंजीकरण अधिनियम, 1969 की धारा 10 के तहत आवश्यक है, तो इन मामलों को कोरोना मौत के रूप में माना जाएगा।” भारत के राजिट्रार जनरल सभी भारतीय राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य रजिस्ट्रारों को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी करेंगे। 

कोरोना टेस्ट के 30 दिन बाद तक कोविड डेथ का प्रावधान

गाइडलाइन में यह भी उल्लेख किया गया है कि ICMR की स्टडी के अनुसार कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आने के बाद 25 दिनों के भीतर 95 प्रतिशत मौतें होती हैं। इसे ध्यान में रखते हुए, गाइडलाइन में कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आने के 30 दिन बाद तक उस व्यक्ति की मौत को कोरोना से हुई मौत में शामिल किया जाएगा। 

भले ही किसी व्यक्ति की मौक अस्पताल से बाहर हुई हो, अगर उसका कोरोना का इलाज चल रहा था तो उसकी मौत कोरोना मौतों में गिनी जाएगी। जिन मामलों में कोई एमसीसीडी उपलब्ध नहीं है या परिजन मृत्यु के कारण से असंतुष्ट हैं। ऐसे मामलों को जिला स्तरीय समिति नियंत्रित करेगी।

12 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

JABALPUR NEWS-  DEO ने महिला शिक्षक का डिपार्टमेंट के बाहर ट्रांसफर कर दिया
GWALIOR NEWS- कलेक्टर की कार्रवाई से अपर आयुक्त तिलमिलाए, रिलीविंग मांगी
MP CORONA NEWS- जबलपुर से शुरू होगी तीसरी लहर, 57 में से 29 संक्रमित जबलपुर में
MP NEWS- महिला रेंजर ने 10 साल के मासूम बच्चे को 2 घंटे तक लॉकअप में रखा
मध्य प्रदेश मानसून- 15 जिलों में मूसलाधार बारिश की चेतावनी, कई इलाकों में वज्रपात का खतरा
BHOPAL NEWS- छात्रा ने सुसाइड किया, पिता रेल अधिकारी, मां कॉलेज प्रिंसिपल
MP NEWS- मध्य प्रदेश का एक गांव विश्व के सर्वश्रेष्ठ पर्यटन गांव की लिस्ट में शामिल
AU COLLEGE ADMISSION- प्रशासनिक अधिकारी बनना है तो ऑनलाइन अप्लाई करें
BHOPAL NEWS- युवा मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष के दबाव में आए TI लाइन हाजिर
MPPEB NEWS- सहायक पशु चिकित्सा क्षेत्र अधिकारी की चयन सूची जारी, यहां पढ़िए

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindi37 साल से चल रहा युद्ध लेकिन एक भी सैनिक नहीं मरा
GK in Hindiमछली पानी में रहती है, फिर उसमें से बदबू क्यों आती है
GK in Hindiभारत की एक ऐसी जगह जहां आज भी ब्रिटिश सरकार का राज है
GK in Hindiबिजली के तार को कैसे पता होता है, पंखे को 60 वाट और एसी को 1160 वाट बिजली देना है
GK in Hindiउल्लू घोंसला क्यों नहीं बनाते, खंडहर में क्यों रहता है
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here