शिक्षा विभाग से आदिम जाति में आए टीचर्स सांसद से मिले, समस्याएं बताईं - MP EMPLOYEE NEWS

मंडला
। ट्राईबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के प्रांत प्रमुख डीके सिंगौर के नेतृत्व में प्रतिनियुक्ति पर आए जिले के लगभग 80 शिक्षक-शिक्षिकाओं ने राज्यसभा सांसद संपतिया उइके से उनके निवास पर मुलाकात कर उन्हें अपनी समस्याओं से अवगत कराया। 

लगभग 2 वर्ष पहले स्कूल शिक्षा विभाग एवं आदिम जाति कल्याण विभाग के शिक्षकों को उनकी सहमति से 2 वर्ष के लिए एक दूसरे के विभाग में प्रतिनियुक्ति पर स्थानांतरित किया गया था, जिससे मंडला जिले में भी स्कूल शिक्षा विभाग के विभिन्न जिलों से 181 शिक्षक प्रतिनियुक्ति पर स्थानांतरित होकर जिले ट्राइबल स्कूलों में पदस्थ हुए, लेकिन पिछले कुछ दिनों से स्कूल शिक्षा विभाग के कुछ प्राचार्यों द्वारा ट्राइबल के शिक्षकों को 2 वर्ष की अवधि पूर्ण होने का हवाला देते हुए मूल विभाग में वापसी के लिए आदेशित किया जा रहा है, जिससे प्रतिनियुक्ति पर एक-दूसरे विभाग में गए शिक्षकों में हड़कंप मचा है। इसका असर ट्रायबल विभाग के शिक्षकों पर भी देखने को मिला।   

एसोसिएशन के प्रांतीय प्रवक्ता संजीव सोनी ने बताया कि शिक्षकों की इस समस्या को देखते हुए ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के प्रांत अध्यक्ष डीके सिंगौर ने शासन को पत्र लिखकर प्रतिनियुक्ति पर आए शिक्षकों को उसी विभाग में मर्ज करने का अनुरोध किया गया, साथ ही जिले की लोकप्रिय राज्यसभा सांसद संपतिया उइके को भी पत्र सौंपते हुए मिलकर चर्चा की। 

माननीय सांसद महोदया ने तुरंत प्रमुख सचिव पल्लवी जैन गोविल से मोबाइल पर बात की। प्रमुख सचिव द्वारा बताया गया कि ट्राइबल विभाग में इस विषय पर अभी किसी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं चल रही है। सांसद महोदय ने उनसे प्रतिनियुक्ति पर आए शिक्षकों को विभाग में मर्ज करने का निवेदन किया, जिस पर प्रमुख सचिव महोदया ने कहा कि प्रतिनियुक्त शिक्षकों की सहमति के आधार पर उन्हें प्रतिनियुक्ति विभाग पर ही रखा जाएगा।

प्रतिनियुक्ति का मामला सीएम हाउस पहुंचा

सांसद महोदया ने मुख्यमंत्री के निजी सचिव से भी मोबाइल पर प्रतिनियुक्ति पर आए शिक्षकों की समस्याओं से अवगत कराते हुए उन्हें शिक्षकों द्वारा सौंपे गए पत्र और उपस्थित शिक्षकों के फोटोग्राफ्स व्हाट्सएप पर भेजे। सांसद महोदया ने स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव एवं आयुक्त लोक शिक्षण संचालनालय से भी संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन बैठक में व्यस्त होने के कारण उनसे बात नहीं हो सकी, तो बैठक के बाद संपर्क करने के लिए उन्हें व्हाट्सएप पर मैसेज भेजा। सांसद महोदया ने ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों एवं शिक्षकों को आश्वस्त किया कि आवश्यकता पड़ने पर वे स्वयं मुख्यमंत्री के पास जाकर उनसे चर्चा करेंगी।

ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन ने माननीय सांसद महोदया को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए प्रतिनियुक्ति पर आए शिक्षकों को आश्वस्त किया कि विभाग में मर्ज होने तक ट्राईबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन प्रतिनियुक्त शिक्षकों की लड़ाई में हमेशा सबसे आगे रहेगा। सांसद महोदया से चर्चा के दौरान जितेंद्र ठाकुर, संदीप कछवाहा, अनिल सिंगौर, विपिन अग्रवाल, सालिग्राम सिंगौर, बलराम पटेल, ब्रजेश पटेल, संदीप चंद्रोल, विनय पटेल, उमा चंद्रोल, अनुराधा पटेल, पुष्पा झारिया, तारेंद्र पटेल,  रंजीता पटेल, रामकृष्ण पटेल, संजय शरद पटेल सहित आधा सैकड़ा से अधिक शिक्षक-शिक्षिकाएं उपस्थित थे।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here