RSS का नोटिफिकेशन- गाय-भैंस का दूध व हरी भाजी का सेवन ना करें

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने अपने मोबाइल एप्लीकेशन शाखा के माध्यम से नोटिफिकेशन जारी करते हुए बताया है कि श्रावण मास शुरू हो गया है और इस समय गाय-भैंस का दूध व हरी भाजी का सेवन नहीं करें। विदित हो कि आयुर्वेद के अनुसारभाजियों व घास में इन दिनों कीटाणु और बैक्टीरिया सक्रिय होते हैं। बैक्टीरिया युक्त घास खाने से गाय एवं भैंस का दूध प्रभावित होता है। यही कारण है कि सावन के महीने में गाय एवं भैंस का दूध बच्चों को पिलाने के बजाय शिवलिंग पर चढ़ाया जाता है। Rashtriya Swayamsevak Sangh का RSS Shakha App Download करने के लिए यहां क्लिक करें

इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर हुआ तो संक्रमण बढ़ सकता है

साथ ही इन दिनों हमारी जठराग्नि अत्यंत मंद हो जाती है। इससे अजीर्ण, अपच, मंदाग्नि, उदर विकार आदि होते हैं। (पेट की पाचन क्रिया कमजोर पड़ जाती है), इनका असर इम्युन सिस्टम को कमजोर करने वाला है। यदि इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर हुआ तो कोरोनावायरस संक्रमित कर सकता है। संघ ने आगाह करते हुए बताया है कि वर्षा ऋतु से आदान काल समाप्त होकर सूर्य दक्षिणायन हो जाता है और विसर्ग काल शुरू हो जाता है। इन दिनों हमारी जठराग्नि अत्यंत मंद हो जाती है। इसके कारण खानपान के अलावा रहन-सहन पर विशेष ध्यान देना जरूरी है। 

आसानी से पचने वाले भोजन करें: RSS विशेषज्ञों की सलाह

शाखा एप में देर से पचने वाला आहार से बचने की सलाह दी गई है। सुपाच्य और सादे भोजन व खाद्य पदार्थो का सेवन सबसे उपयुक्त बताया गया है। बासी, रूखे और उष्ण प्रकृति के पदार्थो से परहेज करना चाहिए। बारिश के मौसम में गेहूं, जौ और पुराने चावल का सेवन सबसे ज्यादा लाभप्रद बताया गया है।

वर्षा ऋतु में भोजन में अदरक व नींबू का प्रयोग करें

इस पर दें विशेष ध्यान शाखा एप में बताया गया है कि भोजन बनाते समय आहार में थोड़ा सा शहद मिला देने से मंदाग्नि दूर होती है व भूख खुलकर लगती है। अल्प मात्रा में शहद के नियमित सेवन से अर्जीण, थकान, वायुजन्य रोगों से भी बचाव होता है। वर्षा ऋतु में उदर रोग अधिक होता है। लिहाजा भोजन में अदरक व नींबू का प्रयोग प्रतिदिन करने की सलाह दी है। नींबू वर्षा ऋतु में होने वाली बीमारियां में बहुत ही लाभदायक है।

आम और जामुन सर्वोत्तम फल

आयुर्वेद के अनुसार, वर्षा ऋतु में आम और जामुन को सर्वोत्तम माना गया है। आम आंतों को शक्तिशाली बनाता है। चूसकर खाया हुआ आम पचने में आसाना, वायु तथा पित्तविकारों का शमन करता है। जामुन दीपन, पाचन व कई उदर रोगों में लाभकारी है।

आम में विटामिन ए, सी और के की प्रचुरता होती है। विटामिन के हड्डियों को मजबूत करता है। विटामिन ए आंखों के लिए अच्छा होता है। प्रति 100 ग्राम आम में 36.4 मिलीग्राम विटामिन सी, 4.2 माइक्रोग्राम विटामिन के और 1082 आइयू होता है। विटामिन सी के कारण इम्युनिट सिस्टम दुस्त रहता है। प्रति 100 ग्राम जामुन में कार्बोहाइड्रेट-14 ग्राम, फाइबर- 0.6 ग्राम, वसा- 0.23 ग्राम, विटामिन, कैल्शियम, आयरन व पोटेशियम- 0.995 ग्राम।

31 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

INDORE BREAKING- 5 स्टार होटल में रेप, ब्लैकमेलिंग में 1.35 करोड़ कैश, 3.5 किलो सोना और 15 किलो चांदी
MP NEWS- मनरेगा मजदूरों की हाजरी ऑनलाइन लगेगी, तभी पेमेंट होगा
MP NEWS- मध्य प्रदेश शिक्षक भर्ती में 27% ओबीसी आरक्षण लागू होगा: स्कूल शिक्षा मंत्री
DAVV ADMISSION NEWS- आवेदन की लास्ट डेट बढ़ाई जा सकती है
MP NEWS- कमलनाथ, अरुण यादव को लोकसभा का टिकट देना नहीं चाहते
MP NEWS- ट्रांसफर के लिए 3 सांसदों की फर्जी नोट शीट सीएम हाउस पहुंची
SCHOOL CORONA NEWS- सोलापुर में 600 से ज्यादा स्टूडेंट्स पॉजिटिव, 12 जुलाई से स्कूल खुले थे
MP उपचुनाव NEWS- पिता ने बेटे का टिकट काट दिया
BANK NEWS- संडे को भी काम करेगा, सैलरी आएगी, किस्त कटेगी
MPPSC 2020- दूसरे पेपर में 17 प्रश्न गलत, विलोपित करने की मांग
DAVV ADMISSION NEWS- आवेदन की लास्ट डेट बढ़ाई जा सकती है

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindi- बादल कैसे बनते हैं, क्या देवताओं के रूठने से बादल फटते हैं
GK in Hindi- वह कौन सी संख्या है जिसे रोमन में नहीं लिखा जा सकता
GK in Hindiजालसाज व्यक्ति को 420 क्यों कहते हैं ​
GK in Hindiरानियों के रेशमी वस्त्र किससे धुलते थे, वाशिंग पाउडर तो था नहीं
GK in Hindi- हिटलर की मूछें टूथब्रश जैसी क्यों थी, योद्धाओं जैसी क्यों नहीं, पढ़िए
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here