Loading...    
   


JABALPUR में प्रशासन कोविड मरीज की हेल्प नहीं करने देना चाहता: युवा कांग्रेस - MP NEWS

जबलपुर।
 मध्य प्रदेश के जबलपुर में लॉकडाउन में मददगारों पर भी प्रशासन की सख्ती हो रही है। गरीब—बेसहारा लोगों को भोजन पहुंचाने वाले लड़कों का चालान काटा जा रहा है। जबकि जितनी राशि जुर्माना भरने में दी जाती है उससे कई भूखें लोगों को भोजन दिया जा सकता है। यह आरोप युवा कांग्रेस के अंकित मिश्रा ने लगाया है। इस मामले में उन्होंने कलेक्ट्रेट पहुंचकर प्रदर्शन भी किया।  

अंकित मिश्रा ने बताया कि हेल्प जबलपुर माध्यम से अंकित मिश्रा एवं उनके मित्रगण द्वारा कोविड मरीज एवं परिजनों हेतु भोजन की निशुल्क व्यवस्था कर रहे हैं। परन्तु प्रशासन द्वारा उन्हे आवागमन हेतु अनुमति पत्र तक जारी नहीं कर रहा है। ताकि उन्हें भोजन लेकर निकलने में किसी तरह की समस्या न आए। वहीं जब युवक भोजन लेकर निकलते हैं तो प्रशासन द्वारा उनका चालान काट कर पैसे वसूले जा रहे है।

पुलिस द्वारा शहर के विभिन्न चौराहों में पुलिस द्वारा आम जन से इसी तरह वसूली की जा रही है। इस तरह का व्यवहार यह दिखाता है कि प्रशासन इस समय पूर्वाग्रह से प्रभावित होकर कार्य कर रहा है। क्योंकि जिम्मेदार जरूरतमंदों को किसी तरह की राहत नहीं दे रहे हैं जिन्हें ये काम करना चाहिए। प्रदर्शन करने वालों में यूथ कांग्रेस की राष्ट्रीय सचिव एकता ठाकुर, एनएसयूआई की नेत्री वन्दना महेरा, बादल पंजवानी,रिंकू बुदलानी,जुम्मन सेन,विनोद,जफर, रितेश, प्रतीक, शिक्कू, विशाल गुप्ता आदि उपस्थित रहे।

साक्षी फाउंडेशन से कोविड केयर सेंटर को दी मदद: बरगी स्थिति कोविड केयर सेंटर के लिए साक्षी फाउडेंशन ने मदद का हाथ बढ़ाया है। विधायक संजय यादव की पहल पर संस्था के सदस्यों ने उपचार के लिए आवश्यक मेडिकल सामग्री उपलब्ध कराई। जिसे एसडीएम को सौंपा गया। संस्था के पीयूष दीक्षित,रोहित बुधराजा और पंकज ने मिलकर यह सामग्री मरीजों के लिए दी।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here