Loading...    
   


कोरोना वैक्सीनेशन हेतु केंद्र सरकार की नई गाइडलाइन

covid vaccine new guidelines india

नई दिल्ली। भारत की केंद्र सरकार ने कोरोनावायरस के वैक्सीनेशन के लिए नई गाइडलाइन जारी कर दी है। इस बार उन सवालों के भी जवाब दिए गए हैं जो पिछली गाइडलाइन में नहीं थे। इसमें बताया गया है कि COVID-19 पॉजिटिव हो चुके लोग स्वस्थ होने के बाद टीका लगवाने के लिए जल्दबाजी नहीं करें। 

COVID पॉजिटिव हो चुके लोग वैक्सीन कब लगवाए

COVID19 (NEGVAC) के लिए वैक्सीन प्रशासन पर राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह की नई सिफारिशों को स्वीकार कर लिया गया है और राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को सूचित कर दिया गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने 19 मई 2021 को जानकारी दी है। नई सिफारिशों के अनुसार, बीमारी से उबरने के बाद COVID19 टीकाकरण को 3 महीने के लिए टाल दिया जाएगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि पहली खुराक के बाद संक्रमित होने पर, दूसरी खुराक को COVID19 से क्लिनिकल रिकवरी के बाद 3 महीने के लिए टाल दिया जाएगा। 

किसी अन्य गंभीर बीमारी से पीड़ित मरीज वैक्सीन कब लगवाएं

अस्पताल में भर्ती या आईसीयू देखभाल की आवश्यकता वाले किसी अन्य गंभीर बीमारी वाले व्यक्तियों को भी स्वस्थ होने के तत्काल बाद टीका नहीं लगवाना है। पूरी तरह से स्वस्थ होने के बाद कम से कम 4-8 सप्ताह तक इंतजार करने के बाद वैक्सीनेशन स्वास्थ्य के लिए उचित होगा। 

क्या CORONA अथवा वैक्सीन लगने के बाद रक्तदान कर सकते हैं 

कोई भी व्यक्ति जिसने वैक्सीन लगवाई है वह वैक्सीनेशन के 14 दिन तक रक्तदान नहीं कर सकता लेकिन उसके बाद वह सामान्य जीवन में जिस प्रकार रक्तदान करता है, कर सकता है। इसी प्रकार COVID से पीड़ित व्यक्ति जब भी उसकी RT-PCR निगेटिव रिपोर्ट आ जाती है, उसके तत्काल बाद डॉक्टर की सलाह पर रक्तदान कर सकता है। 

स्तनपान कराने वाली महिलाएं कोरोना वैक्सीन लगवा सकती है या नहीं

स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए टीकाकरण की सिफारिश की गई है। मंत्रालय के अनुसार, टीकाकरण से पहले रैपिड एंटीजन टेस्ट द्वारा वैक्सीन प्राप्तकर्ताओं की स्क्रीनिंग की कोई आवश्यकता नहीं होगी।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here