Loading...    
   


बहु की 5 बातें, जो सास की नाक में दम कर देती हैं

सास और बहू के बीच तनाव किस घर में नहीं होता। कई बहुए ऐसी होती हैं जो अपनी सास को खुश रखना चाहती हैं परंतु फिर भी किसी ना किसी बात पर सास उनसे नाराज हुई जाती है। हम आपको बताते हैं कि वह कौन सी पांच बातें हैं जो किसी भी महिला को आहत करती हैं जब वह सास होती है लेकिन इससे पहले यह जान लेना बहुत जरूरी है कि नवविवाहित लड़कियों को एक बात ध्यान पूर्वक समझना चाहिए कि सास, मां के जैसी होती है लेकिन मां नहीं होती। लड़कियां कई बार शादी के बाद अपनी सास के साथ वैसा ही व्यवहार करने लगती हैं जैसा कि अपनी मां के साथ किया करती थी। आइए अपन डिस्कस करते हैं वह पांच बातें जिनके कारण सास अपनी बहू से नाराज हो जाती है।

1. घरेलू काम को लेकर बहस करना 

आमतौर पर घरेलू काम - काज को लेकर सास बहू के बीच तू तू - मैं मैं होती रहती हैं । खास तौर पर जब नवेली बहू घर में आती हैं । जब लड़की ब्याह कर ससुराल जाती हैं तो ससुराल के नियम कायदे को समझने में थोड़ा समय लगता हैं इसी बीच सास अपना रुतबा जमाने से पीछे नहीं हटती मगर बहू भी कम नहीं होती उनकी बातों का मुंह तोड़ जबाब देने का प्रयास करती हैं जिससे सास परेशान हो जाती हैं । यदि सास सिर्फ बहस में और बहू में कमी कितनी हैं यह देखती रहें तो यह बहस उम्रभर चल सकती हैं । बहू कोई मशीन नहीं होती जो सिर्फ चलती ही जाये ।

 2. बहू की तारिफ सास को बर्दाश्त नहीं होती -

ज्यादातर सास की यह समस्या होती हैं कि घर के अन्य लोग जब बहू की जो भी तारिफ करें तो वह बर्दाश्त नहीं कर सकती हैं । सास का सिंहासन हिलने लगता हैं । बहू की होने वाली तारीफ को सास सह नहीं सकती हैं ।

3. बहू का मायके से लगाव -

बहु का मायके से लगाव देखकर सास को मिरची लगती हैं । हमेशा हर बात पर बहू ने अपने माता - पिता का नाम लेना यह सास के नाक में दम कर देता हैं । हर बात अगर बहू अपने माता - पिता से करे तो सास का महत्व कम तो नहीं होता हैं पर सास यही मानने लगती हैं । हर सोल्युशन सिर्फ मायके में ही होता हैं । यह मानने लगे अगर बहू में झगडा होने की आशंका बढ जाती हैं ।

4. सास को अपमानित करना -

सास बहू से अच्छी कैसे है ? यह हर बार घर वालो को बताना । अपने बहू की हमेशा निंदा करना यह बात तो सुनी  होगी पर आजकल बहू भी अपने सास की बुराई करने में पीछे नहीं हैं । वही सास की बातों को दिल पे लगाकर उनका जबाब देने का प्रयास करती हैं जिसे सास अपना अपमान समझती हैं ।

5. सास के बेटे को अपना कहना - 

सास की यह धारणा होती हैं कि बहू उसके बेटे कों उससे दूर कर रही हैं । सास की इस धारणा का कोई इलाज अब तक तो नहीं मिला हैं । हर बार बेटा जब अपने पत्नी के नाम का जप करें और उसके उंगलीयों पर नाचे यह बात सास को पसंद नहीं होती । हर बात बेटा जब बहू से पुछकर करें या उनकी राय लेता है तो सास को लगता हैं की उसका बेटा अब बहू का गुलाम हो चुका हैं और बहू उनसे दूर कर रही हैं । 

 6. सास बहू की विचारों की भिन्नता -

सास बहू के विचारों में मेल नहीं खाना भी सास की नाक में दम करने वाली कड़ी है । सास पुरानी परंपरा का निर्वहन करती हैं और बहू नये तौर तरीकों को अपनाने में यकीन करती हैं । बहू का यही मॉर्डन अंदाज आपसी बहस का मुख्य कारण बन जाता हैं । सास अपनी पुरानी बातों को याद करती हैं और बहू उस बात को काट देती हैं जो नाक में दम करने से कम नहीं है । (एल. आर. सेजु थोब 'प्रिंस')


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here