Loading...    
   


कलेक्टर ने SBI की ब्रांच सील कर दी, सरकारी योजना के पालन से इनकार किया था - Madhya pradesh news

शाजापुर
। पीएम स्वनिधि योजना के के तहत लोन के आवेदन अस्वीकार करने वाले स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की मगरिया ब्रांच को कलेक्टर ने सील करवा दिया। इस दौरान बैंक के कर्मचारियों ने सील करने आई टीम का भारी विरोध किया। बैंक कर्मचारियों ने बाद में आरोप लगाया कि पुलिस ने बिना नोटिस के सीलिंग की कार्रवाई की है और बुजुर्ग अधिकारी को घसीट कर बाहर निकाला। बाद में बैंक के वरिष्ठ अधिकारी, कलेक्टर से मिलने का और योजना का पालन करने का आश्वासन दिया तब जाकर एसबीआई की ब्रांच खोली गई।

शाजापुर में बैंक कर्मचारियों का प्रदर्शन

मंगलवार को बैंक अधिकारी कर्मचारियों द्वारा एबी रोड स्थित एसबीआई की मुख्य शाखा के बाहर विरोध प्रदर्शन किया गया। जिसमें प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। इसके बाद अधिकारी कर्मचारी कलेक्टोरेट पहुंचे। यहां दूसरे प्रशासनिक अधिकारी ज्ञापन लेने आए तो ज्ञापन नहीं दिया गया। बैंक कर्मचारी कलेक्टर को ही ज्ञापन देने पर अड़े रहे। कलेक्टर दिनेश जैन को ज्ञापन लेने आने में काफी समय लगा। इस दाैरान अधिकारी कर्मचारी परिसर के मुख्य द्वार पर जमीन पर ही बैठ गए। बाद में कलेक्टर ने पांच लोगों के प्रतिनिधि मंडल से बात की। इधर, बैंक अधिकारी-कर्मचारियों के द्वारा विरोध किए जाने से बैंकों का काम बुरी तरह प्रभावित हो गया।

SBI के कर्मचारियों ने सील करने आई प्रशासनिक टीम का जबरदस्त विरोध किया

मंगलवार को मगरिया शाखा की सील खोलने पहुंचे तहसीलदार मुन्ना अड़ से बैंक अधिकारियों-कर्मचारियों की तीखी तकरार हुई। उन्होंने प्रशासन के खिलाफ वापस जाओ, वापस जाओ के नारे लगाए। पुलिस ने मामले में हस्तक्षेप किया तो बैंक कर्मचारी पुलिस का भी विरोध करने लगे। एक महिला अधिकारी की तो टीआई उदयसिंह अलावा से जमकर कहासुनी हुई। महिला कर्मचारी ने टीआई से यह तक कहा कि मैं पीएचक्यू ब्रांच में पदस्थ हूं। तकरार के दाैरान एक बैंक अधिकारी टीआई अलावा से बोले टीआई साहब चिंता नहीं करो। हमें आपकी वर्दी की गर्मी मालूम है।

बुजुर्ग अधिकारी को पुलिस ने खींचकर बाहर निकाला: प्रदर्शनकारी कर्मचारियों का आरोप

दरअसल बैंक अधिकारी और स्टाफ सोमवार को पुलिस और प्रशासन द्वारा बैंक स्टाफ व अधिकारियों से किए गए गलत व्यवहार को लेकर नाराज हैं। उनका कहना है कि बिना किसी नोटिस के बैंक को सील कर दिया गया। बुजुर्ग अधिकारी और स्टाफ को खींचकर बैंक से बाहर निकाला गया। उपभोक्ताओं को बाहर निकाला गया। तहसीलदार मुन्ना अड़ ने बताया कि सोमवार को बैंक को सील करने के आदेश कलेक्टर ने दिए थे। मंगलवार को कलेक्टर ने ही बैंक खोलने के आदेश दिए थे।

24 फरवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here