Loading...    
   


ना तो कोई स्कूल बंद होगा और ना ही निजीकरण होगा: शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा - MP EMPLOYEE NEWS

भोपाल
। आजाद अध्यापक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष संतोष सोनी ने बताया कि आज़ाद अध्यापक शिक्षक संघ का  प्रांतीय सम्मेलन राजधानी भोपाल में समन्वय भवन (सुभाष यादव भवन) में स्कूल शिक्षा मंत्री माननीय इंदर सिंह परमार के मुख्य आतिथ्य में एवं प्रांताध्यक्ष भरत भाई पटेल की अध्यक्षता में आयोजित किया गया। 

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए "माननीय स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा" कि किसी भी प्रकार का किसी भी स्कूल का निजीकरण नही होगा शिक्षक निर्भय होकर अपने दायित्वों कर्तव्यों का निर्वहन करें शिक्षको की समस्याओं के निराकरण की जिम्मेदारी हमारी है अतः प्रत्येक समस्या का शीघ्र निराकरण किया जाएगा सभी शिक्षकों को राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर चिंतन मनन एवम अपने विचार रखना चाहिए। 

प्रांतीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए "प्रांताध्यक्ष भरत भाई पटेल ने कहा"  "पहले कर्तव्य फिर अधिकार" हमारा नारा है संवर्ग की क्रमोन्नति ,अनुकम्पा, गैर शैक्षणिक कार्यो में संलग्नीकरण समाप्त ,सातवे वेतनमान के अंतर की राशि का एकमुश्त भुगतान उच्च माध्यमिक शिक्षकों को प्राचार्य बनाने शिक्षकों पर अनावश्यक करवाई को समाप्त करने शिक्षकों को  रिजल्ट का टारगेट नहीं देने आदि अन्य समस्याओं का शीघ्र समाधान का ज्ञापन माननीय शिक्षा मंत्री जी को सौपा गया। 

माननीय मंत्री महोदय ने अपने उद्बोधन में कहा माननीय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश से कर्मी कल्चर समाप्त किया है संगठन के प्रयास से और सरकार के शिक्षकों के प्रति सम्मान के चलते आज आप शिक्षक बने हैं उन्होंने कहा कि गुरु का सम्मान हम बनाएंगे आपको स्कूलों में दक्षता बनाकर देनी है परीक्षा को लेकर उन्होंने कहा कि परीक्षा केवल शिक्षकों में दक्षता बढ़ाने के लिए आयोजित की जा रही है किसी भी प्रकार से शिक्षकों पर कोई कार्यवाही नहीं होगी पूर्व में मृत अध्यापक परिवार  को अनुकंपा नीति पर शिथिलता हेतु केंद्र सरकार से चर्चा करने की बात कही। 

शासकीय स्कूल में कार्यरत शिक्षकों पर अनावश्यक दूसरी विभाग की कार्यवाही पर रोक लगेगी पदोन्नति हेतु उन्होंने कहा कि हम बहुत अच्छा ड्राफ्ट तैयार कर रहे हैं मध्य प्रदेश एकमात्र ऐसा देश होगा जहां पर शिक्षकों को अच्छी सुविधा उपलब्ध होगी माननीय मंत्री महोदय ने नई शिक्षा नीति से अवगत कराते हुए बताया कि यह बहुत ही कारगर साबित होगी और उन्होंने आह्वान किया कि आप सभी शिक्षक इस शिक्षा नीति का अध्ययन अवश्य करें इससे शिक्षा में अमूलचूल परिवर्तन होगा उन्होंने स्पष्ट किया कि मध्यप्रदेश के कोई भी स्कूल बंद नहीं होंगे ना ही इसका निजीकरण किया जाएगा अलबत्ता उन्होंने यह भी कहा कि शासकीय स्कूलों ने इस वर्ष दो लाख बच्चों की भर्ती की है जो कि निजी स्कूलों में अध्ययनरत थे। उन्होंने कहा कि 3 वर्ष यदि शिक्षक मेहनत करते हैं तो निजी स्कूलों को मात दी जा सकती है सभी समस्याओं के  निराकरण हेतु महोदय द्वारा  आश्वासन दिया गया।  

कार्यक्रम को संघ के प्रांतीय ,संभागीय, ज़िला,ब्लॉक,तहशील एवं संकुल के पदाधिकारियों द्वारा गरिमापूर्ण एवं सफल बनाने के लिए अपनी सहभागिता एवं पदीय दायित्वों का निर्वहन किया गया। संघ  द्वारा डाटा एंट्री आपरेटरों की बहाली के ज्ञापन माननीय शिक्षा मंत्री को सौपा गया जिसका शीघ्र निराकरण का आश्वासन दिया गया। 

सम्मेलन में मंडला से  जयपाल झारिया,  दिलीप शरणागत  सतीश मिश्रा सेवन सिंह मरकाम दुर्गेश खरे  नरेंद्र चौहान आराधना तिर्की,अशोक मरावी,हरि यादव,नवीन रोस्ता,लखन शियंम, रवि धुर्वे, प्रेम धनिया, श्याम लाल उईके, अँखु टेकाम, नीलेश घोगले, ओम प्रकाश पटेल प्रशांत पटेल अनिल कुमार पटेल मूलचंद यादव प्रेर्मेंद्र कुमार शरमाखी राजेश बाजपेई   अश्विनी देवेंद् मर्सकोले तुलसीराम बंदे वार आत्माराम झारिया परसराम उइके दिनेश झारिया राम कुमार रजक दीपक दहले बिशन सिंह कुलस्ते नरेंद्र पंद्रे लाल सिंह भलावी मंसाराम इनवाती अमित मेश्राम आदि पदाधिकारी उपस्थित रहे

प्रांतीय सम्मेलन को मंडला ज़िलाध्यक्ष संतोष सोनी ने संबोधित किया गया
 कार्यक्रम को सफल बनाने में अपने पदीय   दायित्वों का निर्वहन कर प्रांतीय सम्मेलन को भव्यता,जीवटता प्रदान की गईं।  गरिमामय एवं गौरवपूर्ण कार्यक्रम का सफल संचालन कटनी ज़िला अध्यक्ष रमाशंकर तिवारी एवं बैतूल जिला अध्यक्ष विनय राठौर  एवं आभार प्रदर्शन सीधी ज़िला अध्यक्ष हरीश मिश्रा द्वारा ज्ञापित किया गया।

25 जनवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here