Loading...    
   


M-VAHAN APP से फिटनेस सर्टिफिकेट कैसे बनेगा

भारत सरकार के परिवहन मंत्रालय ने वाहनों के फिटनेस प्रमाण पत्र जारी करने में फर्जीवाड़े पर रोक लगाने के लिए ऐसा कदम उठाया गया। इसके लिए वाहनों की फिटनेस जांच अब ऑनलाइन होगी। एम वाहन एप को लांच किया। नई व्यवस्था के तहत वाहनों का मौके पर पहुंचना अनिवार्य होगा। मौके पर पहुंचे वाहनों को देखने के बाद ही संबंधित अधिकारी और कर्मचारी फिटनेस प्रमाण पत्र जारी कर पाएंगे। M-VAHAN APP DOWNLOAD करने यहां क्लिक करें

mParivahan App में कौन-कौन से फोटो अपलोड होंगे

एम वाहन एप में जांचकर्ता को एम मोबाइल एप में निर्धारित छह बिंदुओं पर वाहनों से संबंधित तस्वीर अपलोड करनी होगी। सभी बिंदुओं पर तस्वीर लोड होने के बाद ही आगे की प्रक्रिया शुरू हो पाएगी। अन्यथा की स्थिति में फिटनेस प्रमाण पत्र ही नहीं बन पाएगा। यानी, एप में वाहन की पूरी तस्वीर, चेसिस नंबर, आगे और पीछे के सभी लाइट और हाई सिक्योरिटी नंबर लोड करने होंगे।

यहां बता दें कि अब तक परिवहन विभाग में वाहनों के फिटनेस जांच के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति होती है। वाहन परिवहन कार्यालय पहुंचे बिना ही फिटनेस प्रमाण पत्र बन जाता है। सुविधा शुल्क पर खटारा वाहनों का भी फिटनेस प्रमाण पत्र जारी हो जाता है। इसी मामले में कुछ महीने पहले वाराणसी के तत्कालीन आरआई को शासन ने निलंबित भी किया था।

08 जनवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे हैं समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here